Top

व्यंग ही व्यंग - Page 1

  • हमलावर प्रशांत किशोर.... अभय सिंह

    हमलावर प्रशांत किशोर ।आरोप मढ़ दिये पुरजोर ।।बताया पिता तुल्य ।मर्यादा गये वो भूल ।।नीतिश हैं पिच्छलगू ।बदल नहीं सके बिहार ।।नीतिश से हैं मुझे ।वैचारिक मतभेद ।।गिना कर खामियां ।कर दिया उजागर ।।जीतने के लिए नही ।चाहिए बीजेपी का साथ ।।आज भी न बदले है ।बिहार के हालात ।।गांधी और गोडसे चल। नहीं सकते है...

  • सिंधिया की चेतावनी

    दे दिये सिंधिया खुली ।सरकार को चेतावनी ।।घोषणा पत्र गर पूरी ।तरह न होगा लागू ।।थोड़ा रखों सब्र ।आयेगी हमारी बारी ।।पूरा नही करेंगे वादा ।प्रदर्शन की है तैयारी ।।दिलाता हूँ मैं विश्वास ।हर पल आपके साथ ।।बन कर मैं ढाल ।और तलवार ।।हर हाल में सुनेगी ।आखिर सरकार ।।तल्ख किये टिप्पणी ।अंदरूनी हालात...

  • ढूंढ रहे राहुल गांधी .... किसे हुआ है फायदा ?

    कर दिये ट्वीट ।सेना को दिया घसीट ।।उनके पराक्रम पर ।राजनीति नही ठीक ।।ओछी है ये हरकत ।ठीक नहीं है कायदा ।।ढूंढ रहे राहुल हैं गांधी ।किसे हुआ है फायदा ?सेनाओं का न हो अपमान ।मिले उन्हें भरपूर सम्मान ।।उनके मनोबल को ।मत आको कमतर ।।गिरने न दे इस तरह ।से राजनीति की स्तर ।।

  • नन्हा सा सबक... : अभय सिंह

    नन्हा सा सबक ।हमें सीख दे जाता है ।।हर दफ़ा यूँ ही बच्चे ।जीवन में पाठ पढ़ा जाते है ।।अक्सर अपनी समस्याओं के ।कारण उन्हें नजर अंदाज कर देते हैं ।।तभी तो तालमेल कभी-कभार ।यूँ ही बिगड़ जाता है ।।माना कि उम्र ढ़ल जाती है ।सहनशक्ति कम हो जाती है ।।कभी-कभार तबीयत नासाज सी लगती है भूल कर सारी बातों को...

  • जंगल कथा : रिवेश प्रताप सिंह

    शेर- क्या हुआ' तुम्हारे साहबजादे की नींद अभी पूरी नहीं हुई क्या?(खिन्न एवं क्रोधित शेर अपनी श्रीमती को घूर कर पूछा)शेरनी- ढाई बजे रात-रात तक आनलाइन रहते हैं आपके लाडले! कहां से सुबह आंख खुलेगी....शेर- इत्ती रात तक आनलाइन! लेकिन तुमको कैसे पता..शेरनी- रात को उठे रहे लघुशंका के लिये. लौट के गुफा में...

  • पोर्न साईटस .... अबिलंब हो बंद ; अभय सिंह

    पोर्न साईटस ।अबिलंब हो बंद ।।सभ्य समाज में ।कतई ना पसंद ।।पोर्न जैसी अश्लील ।इंसान रहा है लील ।।समस्त समाज को ।करना पड़ेगा पहल ।।जारी रखना होगा ।इसके प्रति अभियान ।।सरकार ले संज्ञान ।तभी होगा सफल ।।अभिभावक रखें ध्यान ।बच्चे गलत रास्तों पर न जायें ।।मोबाइल से सिर्फ करे ।प्राप्त सकारात्मक ज्ञान...

  • कोई भटका हुआ लड़का है, गोपाल!

    कोई भटका हुआ लड़का है, गोपाल! कहीं भीड़ की ओर नली कर के कट्टा दाग दिया है। लालू जी के बिहार में बचपन बीता है, सो कट्टे की औकात जानता हूँ। बचपन मे खूब कहानियां सुनी हैं, बीस फीट दूर से चले तो आदमी क्या बकरी नहीं मरेगी। देख रहा हूँ कुछ लोग भड़के हुए हैं। ये वही लोग हैं जिन्होंने दो सौ लोगों के हत्यारे के...

  • हम असम को देश से काट देंगे...देश देख रहा है, पर चुप है

    दिल्ली के शाहीन बाग में खड़ा हो कर वह कहता है कि हम असम को देश से काट देंगे। देश देख रहा है, पर चुप है। वह कहता है कि मुर्गी का सर(पूर्वोत्तर भारत) हमारा है। शाहीन बाग में तिरंगा लेकर बैठी भीड़ उसका समर्थन करती है। बुद्धिजीविता के ठेकेदार उसका विरोध नहीं करते, वामपंथ का आधुनिक झंडाबरदार उसे अपने साथ...

  • शारजील इमाम ... जहरीली जुबान : अभय सिंह

    शारजील इमाम । जहरीली जुबान ।।दे रहा है धमकी ।अब तो खुलेआम ।।धीरे-धीरे इनका ।खुल रहा है राज ।।काट कर असम ।कर देंगे अलग ।।पटरी पर डालो मवाद ।हट सके महिनों के बाद ।।उचित हो कारवाई ।फिर से न कोई भी ।।दुबारा न इस तरह की ।कोई भी हरकत कर पाये ।।

  • योगी सरकार ने .... फैसला लिया अहम : अभय सिंह

    योगी सरकार ने ।फैसला लिया अहम ।।सुधार के दिशा में ।उठाया एक कदम ।।लागू हुआ नया नियम ।पुलिस कमिश्नरी प्रणाली ।।होगी प्रभावी ।आयेगा सुधार ।।करना ना पड़ेगा ।अब तो इंतज़ार ।।दंगाईयों,उपद्रवियों के ।अब आयेंगे दिन बुरे ।।चिन्हित करके ।होगी करवाई ।।बच नहीं सकतें ।कोई भी दंगाई ।।

  • कमलनाथ ने ओछा दिया बयान

    सीएम कमलनाथ ।ओछा दिये बयान ।।पीएम मोदी को कर ।रहे हैं बदनाम ।।राष्ट्रवाद के आड़ में ।हमला ताबड़तोड़ ।।बताओ आजादी की ।लड़ाई में क्या योगदान ?इतने पर भी न माने ।घसीटे बाप-दादा के नाम ।।..........अभय सिंह

  • दरिंदों की मौत मुकर्रर ... अभय सिंह

    देशवासियों को था । जिसका इंतजार ।।देर से ही सही पर ।दुरुस्त आया क्षण ।।मुकर्रर हो गई तारीख ।बस फाँसी का इंतज़ार ।।माननीय न्यायालय का ।स्वागत योग्य है कदम ।।इन दरिंदों को नही ।है जीने का आधिकार ।।मिलेगा निर्भया को ।अंतत: अब इंसाफ ।।बच नहीं सकता कोई ।घिनौना करके पाप ।।बुरी नजर रखने वालों...

Share it
Top