Read latest updates about "व्यंग ही व्यंग" - Page 1

  • चौकीदार है प्योर ....कोर्ट श्योर ...

    सुप्रीम कोर्ट के हवाले ।आरोप मढ़ थे डाले ।।राहुल मचाते थे शोर ।चौकीदार ही हैं चोर ।।देर ही सही दुरुस्त ।सच्चाई गई जीत ।।रफैल ड़ील में ।इंसाफ गयी मिल ।।कोर्ट की फटकार ।हो जाओ खबरदार ।।बिना शर्त माफ़ी ।किया स्वीकार ।।चौकीदार प्योर ।कोर्ट श्योर ।।

  • माया मिली न राम .... मुहँ के बल गिरे धड़ाम

    माया मिली न राम ।मुहँ के बल गिरे धड़ाम ।।50 - 50 का ये खेल ।प्रयत्न के बाद भी फेल ।।मियांद हुई पूरी ।हसरत रह गयी अधूरी ।।कांग्रेस-एनसीपी का ।अलग-अलग अलाप ।।हो नहीं पाया ।कुछ भी साफ ।।आपसी तकरार ।फँस गईं सरकार ।।अंततः गेंद गयी ।महामहिम के पाले ।।शासन राष्ट्रपति के सहारे ।हाथ मलते रह गये सारे ।।

  • पुत्र मोह की आह...कांग्रेस हुई वाह !

    वर्षों की दोस्ती ।पल में दिया तोड़ ।।सत्ता के वास्ते ।सहयोगी दिया छोड़ ।।कुर्सी खातिर ।लगा रहा दौड़ ।।पुत्र मोह की आह ।मुख्यमंत्री की चाह ।।दरकिनार कर दिया ।बाला साहब की राह।।भुला कर दुश्मनी ।कांग्रेस से बात बनी ।।जनादेश कर अपमान ।भांड में जाये जनता महान ।।अभय सिंह

  • सत्ता की भूख ...बाला साहब का ...सपना हुआ चकनाचूर

    बाला साहब का ।सपने हुआ चकनाचूर ।।आजीवन रहें ।कांग्रेस से दूर-दूर ।।खत्म हुआ ।अटल जी युग ।।बना ली दूरी ।कुर्सी जरुरी ।।पुत्र का हूक।सत्ता की भूख ।।बढ़ा दिया हाथ ।घुर-विरोधी के साथ ।।रखेगी जनता ।ये सब हमेशा याद ।।अभय सिंह की कलम से ...

  • जनादेश का अपमान ....जनता हैं परेशान : अभय सिंह

    अकेले न बना ।पायेंगे सरकार ।।बीजेपी विपक्ष में ।बैठने को तैयार ।।जनादेश का अपमान । जनता हैं परेशान ।।फंसी शिवसेना ।दावा करेगी पेश ।।हमारा ही होगा ।सीएम का फेश ।।तेवर तल्ख ।ढूंढ़ रहा विकल्प ।।एनसीपी से माँगा ।फिर से समर्थन ।।पवार रखी शर्त ।सरकार आओ बाहर ।।तभी होगा ।मिलकर विचार ।।अभय सिंह...

  • नाक़ाबिल नाकाम.....

    स्कूल आते जाते हाईवे के किनारे त्रिभुजाकार टेंट को पिछले एक माह से अपने मोबाइल कैमरे में कैद करने की जुगत में था लेकिन जब भी रुककर मोबाइल से फोटो लेने को सोचता तभी दो आदमी पलटकर ऐसा देखते मानों कोई कमज़ोर नाड़ी और नसों की चिंता का मरीज टेंट में घुसने कि फिराक में है. भला अब किसको-किसको बताता फिरूं कि...

  • किंग मेकर

    राजनीति में ऐसे सख्श मीलों नहीं दीखते जो किंगमेकर की हैसियत रखते हुए भी अपने लिए किसी पद की लालसा न रखें। जिनके बलबूते न जाने कितने रियासत के वजीर बन जाये लेकिन वो कभी अपने सिर, मुकुट के लिये न बढ़ायें।जी हाँ! बात हो रही है सब्जियों के सैयद बन्धु 'प्याज' की। जिसने न जाने कितने सब्जियों को अपने...

  • सरकार की रोस्टर प्रणाली, मुहल्ले में काला सांड गया तो चितकबरा आ गया : रिवेश प्रताप सिंह

    सरकार में रोस्टर प्रणाली वाला सिस्टम ठीक चल रहा है. अब शहर के किसी मुहल्ले में सांड, साल- छह महिने से ज्यादा टिक नहीं सकते। आप चौराहे पर जिस काले सांड से बचकर निकलते थे अब आपको डरने की जरूरत नहीं. उसकी जगह ड्यूटी पर चितकबरा सांड आ गया. काले वाले को नगरनिगम की गाड़ी ने दक्षिणी छोर पर टिका...

  • भारत की बेटी का जाना रो रहा ज़माना..

    भारत की बेटी ।सुषमा का जाना ।।ग़मज़दा है भारत ।रो रहा ज़माना ।।प्रखर वक्ता-विदुषी ।गया कोहिनूर ।।सदमे में क़रीबी ।इतनी जल्दी दूर ?अलविदा कह गयी ।शख़्सियत अनमोल ।।गूँज रहे कान ।भाषण और बोल ।।संकट मोचक हस्ती ।लोहा माना यूएन ।।श्रद्धांजली हमारी ।करते हम नमन् ।।व्यंग्यात्मक लेखक :कृष्णेन्द्र राय, ...

  • संसद भी लाचार ? .................: कृष्णेन्द्र राय

    अभद्र हुए आजम ।ना हुआ सुधार ।।पार्टी का बक़ाया ।क़र्ज़ रहे उतार ?अशोभनीय हरकत ।संसद शर्मसार ।।बेलगाम ज़ुबान ।कब होगा उपचार ?छवि लगातार ।ले रही आकार ।।हतप्रभ सदस्य ।संसद भी लाचार ?बेलगाम सांसद ।क्षेत्र का सिरमौर ।।रामपुर वालों ।किया कभी ग़ौर ?कृष्णेन्द्र रायKrishnendra Rai

  • ममता का बंगाल..जय श्री राम बोलना बन गया अपराध...

    'फिसल रही सत्ता' ?जय श्री राम बोलना ।बन गया अपराध ।।ममता का बंगाल ।जारी है विवाद ।।घर किया प्रतिशोध ।तुष्टीकरण अनवरत ।।ढ़ह गया क़िला ।धूमिल हुई हसरत ।। रेत की माफ़िक़ ।फिसल रही सत्ता ?दीदी हैं भयभीत ।जनादेश ना जमता ?कृष्णेन्द्र रायKrishnendra Rai

  • मुस्लिम परिवार की स्टूडेंट का शरीर फाँसी के फंदे पर लटका मिला, वो कैसे थी हिन्दू दलित

    एक मेडिकल कॉलेज में एक स्टूडेंट मृत पाई गयी। उसका शरीर फाँसी के फंदे पर लटका हुआ था। प्रथमदृष्टया सबको लगा कि उसने आत्महत्या की है। पर कुछ चीजें अलग थीं, जैसे उसने कोई सुसाइट नोट नहीं छोड़ा था, और उसके शरीर के विभिन्न हिस्सों पर चोट के निशान थे। अब लड़की के परिवार के बारे में जानिए। लड़की...

Share it
Top