Read latest updates about "व्यंग ही व्यंग" - Page 1

  • नेता का किरदार, एडवोकेट गज़ब

    सिब्बल की वकालत ।ख़त्म करो क़ानून ।।देशद्रोह समाप्त ।उनका अब जुनून ।।उमड़ रहा प्यार ।देखो उनका अजब ।।नेता का किरदार ।एडवोकेट ग़ज़ब ।।देख रही जनता ।पूरा होगा ख़्वाब ?करेंगे अब दाख़िल ।कोर्ट में जनाब ?व्यंग्यात्मक लेखक : कृष्णेन्द्र रायपवई,मुंबई (ईमेल :-Krishnendra.rai@hotmail.com)

  • राष्ट्रीय यादव सेना,ये कैसा व्यवहार :कृष्णेन्द्र राय

    घटिया बयानबाज़ी ।बेटियों पर प्रहार ।।राष्ट्रीय यादव सेना ।ये कैसा व्यवहार ?क़द्र करो भाई ।बेटियों से आँगन ।।तुच्छ मानसिकता ।अब तक है जतन ?विचारधारा धूमिल ।हरकतें हैं जारी ।।विचारों का पतन ।या गठबंधन ख़ुमारी ?व्यंग्यात्मक लेखक :कृष्णेन्द्र राय

  • बुआ और बबुआ के खेल में राहुल हुए बेमेल : कृष्णेन्द्र राय

    प्रेस कॉंफ़्रेंस प्रस्तावित । बुआ और बबुआ ।।यूपी में कांग्रेस ।ना रहेगी अगुवा ?गेस्ट हाउस कांड ।जाओ अब भूल ।।सत्ता से बाहर ।चुभते हमें शूल ।।सत्ता का खेल ।अनवरत है जारी ।।अस्सी ये सीटें ।उतार दीं ख़ुमारी ।।व्यंग्यात्मक लेखक :कृष्णेन्द्र राय

  • दीपक का बुझना हर बार अपशकुन नहीं होता भाई! कई बार दिए का बुझना पूरे राज्य के लिए सुख शांति ले कर आता है।

    लगभग पन्द्रह वर्ष पहले देश के एक राज्य में हरे रंग की एक लालटेन जला करती थी। कहने को वह राज्य कृषि प्रधान था पर राज्य का मुख्य उद्योग हत्या और अपहरण हुआ करता था। तब सुबह जगने वाला कोई मजदूर व्यक्ति ईश्वर से यह प्रार्थना नहीं करता था कि ईश्वर उसकी रोजी सलामत रखे, वह यह प्रार्थना करता था कि...

  • व्यंग : कुतर गये पर - : कृष्णेन्द्र राय

    काम हुआ चालू ।वर्मा जी ऑन ।।हाथ पर बँधे ।घट गयी शान ।।जीत गये जंग ।गायब पर रौनक़ ।।कुतर गये पर ।छिन गया हक ।।धूमिल हुई तमन्ना ।पर करना स्वीकार ।।ताक़त का खेल ।कितने हैं प्रकार ?व्यंग्यात्मक लेखक : कृष्णेन्द्र राय

  • बहन जी देखो ............ आँख रहीं तरेर : कृष्णेन्द्र राय

    बहन जी देखो ।आँख रहीं तरेर ।।चुनाव मद्देनज़र ।छवि रहीं उकेर ।।दे डालीं धमकी ।हो गया अमल ।।खेलनी है पारी ।उखाड़ना कमल ।।डगर है कठिन ।चल रहे सब दाव ।।पर करेगी जनता ।किससे अब जुड़ाव..?व्यंग्यात्मक लेखक : कृष्णेन्द्र राय

  • कोई आज हामिद से पूछे की मौत के पिंजरे से निकलकर अपनी माँ से लिपट जाना, कैसा होता है?

    हामिद अंसारी के भारत की सरज़मीं पर वापसीे की खबर और विडियो बहुत भावुक करने वाला है। कोई मौत के शिकंजे से छूटकर अपनी माँ के आंचल में छुप जाये तो उस अहसास को शब्दों में बयाँ करना न तो हामिद के वश का है और न ही किसी दूसरे के। उनके उखड़ते शब्द और आँसुओं के बीच की रिक्तता को, हम सिर्फ अपनी संवेदनशीलता से...

  • राहुल जी के सोना सत्याग्रह के बाद भारत के हर घर मे सोना बनने लगा

    2020... राहुल जी को भारत का प्रधानमंत्री बने वर्ष भर हो गए हैं। इस एक वर्ष में राहुल जी ने जो ऐतिहासिक लोकप्रियता प्राप्त की है, वैसी लोकप्रियता महात्मा गाँधी के अतिरिक्त और किसी को नहीं मिली थी। महात्मा गाँधी के नमक सत्याग्रह के बाद जिस तरह देश के घर-घर मे लोग नमक बनाने लगे थे,...

Share it
Top