Top

लेख - Page 1

  • लगातार हत्याओं से सहमा ब्राह्मण समाज - कृष्ण सुदामा प्रसंग का पुन: आगाज

    उत्तर प्रदेश की सियासत में ब्राह्मण समाज सदा से महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता आया है। वह किसी दल के प्रचार में भले ही प्रत्यक्ष रूप से प्रचार न करता हो, लेकिन लगातार व्यक्तिगत और सामूहिक चर्चाओं से एक माहौल बना देता है। यानि देश या उत्तर प्रदेश में चुनाव के समय जो हवा बनती है, उसे बनाने का श्रेय...

  • राजनीतिक फोटोमीनिया, अखिलेश और उसके साइड इफेक्ट

    कोई भी राजनीतिक दल हो, उसके कार्यकर्ता और नेता की यह ख़्वाहिश होती है कि उसकी एक फोटो उस नेता के साथ हो, जिसके लिए वह काम करता है। जो उसका आदर्श है। जिससे प्रभावित होकर वह राजनीति में आया है । इस कारण जबसे यह प्रविधि प्रकाश में आई, नेताओं के साथ उसके समर्थकों, कार्यकर्ताओं और नेताओं के फोटो भी नजर...

  • समाजवादी पार्टी की आंतरिक चुनौतियाँ और अखिलेश

    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव 2022 के चुनाव को लेकर काफी संजीदा दिखाई दे रहे हैं। आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर उन्होने 351 सीट जीतने की घोषणा भी कर दी है । इसके बाद समाजवादी पार्टी के हर कार्यकर्ता और नेता ने यह मान लिया है कि आगामी विधानसभा चुनाव में वे 351 सीटें जरूर जीत रहे...

  • देवी अथर्वशीर्ष के कुछ रोचक तथ्य:- (निरंजन मनमाडकर)

    ॐ नमश्चण्डिकायैजय माँ१) यह स्तोत्रम् अथर्ववेद के शिरोभाग में आने के कारण इसे अथर्वशीर्ष कहा है!या थर्व माने चंचलता और अथर्व माने शांत, स्थिर,! तथा शीर्ष माने सिर, मस्तक, जो बुद्धी मति का प्रतीक है! अतः जिसके पाठ से अध्ययन करने से मती स्थिर, शांत हो जाती है या स्थितप्रज्ञता प्राप्त होती है उसे...

  • विकास दुबे का सफाया और उसके राजनीतिक निहितार्थ

    बिकरू हत्याकांड के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे की एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मौत हो गई। एनकाउंटर कानपुर से महज 17 किलोमीटर दूर भौती कस्बे के पास हुआ। घटना के वक्त बारिश हो रही थी। सड़क पर बिखरे कीचड़ की वजह से तेज रफ्तार जा रही गाड़ी पलट गई। पुलिस वालों को घायल जान उनकी पिस्टल छीन कर भागने लगा।...

  • देवी माहात्म्यम् :- (निरंजन मनमाडकर)

    ॐ नमश्चण्डिकायैन चोत्पत्तिरनादित्वान्नृप तस्याः कदाचन |हे राजन्! वे भगवती अनादि है अतः उनकी उत्पत्ति नही होती है!नित्यैव सा परा देवी कारणानां च कारणम् |वर्तते सर्वभूतेषु शक्तिः सर्वात्मना नृप ||वे भगवतीही केवल मात्र नित्या है, परा है!हे राजन्..! वे देवी माँ सभी कारणों की भी कारण है! वे जगदंबा सभी...

  • उत्तर प्रदेश की राजनीति पर अपराधियों का कब्जा

    कानपुर के गाँव बिकरू की घटना के बाद एक बार फिर पूरे देश में उत्तर प्रदेश की राजनीति और उसके अपराधीकरण पर चर्चा होने लगी है। इस समय हर कोई अपराधियों के हिसाब से उत्तर प्रदेश की राजनीति को देखने का प्रयास कर रहा है । उत्तर प्रदेश की राजनीति और अपराधियों में उसकी भागीदारी को लेकर जब हम विहंगम दृष्टि...

  • जरायम की दुनियाँ में महिलाओं की भागीदारी

    पुरुष और महिला एक दूसरे के पूरक हैं। पुरुषों और महिलाओं के कार्यों का विभाजन भी अलग – अलग किया गया है । इस कारण सिर्फ शारीरिक और मानसिक पूर्ति के लिए ही नहीं, बल्कि घरेलू कार्यों की पूर्ति भी तभी संभव है, जब दोनों अपने – अपने कार्य पूरा करें । महिलाओं को पुरुषों से श्रेष्ठतर माना गया है। वह केवल...

  • जरायम दुनिया की समाजिकता और वोट बैंक की राजनीति

    कानपुर देहात के बिकरू गाँव में मारे गए 10 पुलिस जवानों के बाद एक बार फिर जरायम की दुनिया चर्चा में हैं। आज चार दिन हो गए लेकिन सभी अपराधी पुलिस की पकड़ के बाहर हैं। बदमाश कितने शातिर होते हैं, इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब वे मोबाइल फोन भी नहीं रखते हैं। गिरफ्तारी के नाम पर पुलिस ...

  • युवा तुर्क के नाम से मशहूर, तीखे तेवर वाले नेता थे चंद्रशेखर

    पुण्यतिथि विशेष ....युवा तुर्क के नाम से मशहूर रहे दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की आज पुण्यतिथि है. उनके 80वें जन्मदिन के एक हफ्ते बाद ही 8 जुलाई 2007 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में उनका देहांत हो गया था. चंद्रशेखर से जुड़े कई ऐसे किस्से हैं, जिन्हें आज भी सुनाया जाता है. कहा जाता है कि वो...

  • भारतीय क्रिकेट के दादा! दादा बोले तो बाबू मोशाय

    सन 2006, भारत वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज का मैच एंटीगुआ में खेला जा रहा था। भारत के कप्तान थे राहुल द्रविड़। भारत की बैटिंग थी, मोहम्मद कैफ और महेंद्र सिंह धोनी खेल रहे थे। 69 रन पर खेलते धोनी से छक्का मारा जिसे फील्डर ने बाउंड्री पर पकड़ लिया। अंपायर ने थर्ड अंपायर से बात की और छक्का का निर्णय दिया। तबतक ...

  • उत्तर प्रदेश में जरायम की संरक्षित नई दुनिया

    उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात के जिले में कानपुर देहात के बिकरू गाँव में घटी घटना से पूरा देश स्तब्ध है । हर कोई इसकी अपने-अपने हिसाब से व्याख्या कर रहा है। इस घटना से एक बात तो तय हो गई है कि जिस पुलिस के बारे में यह कहा जाता था कि वे हर प्रकार का भ्रष्टाचार कर सकते हैं, लेकिन जब उनके विभागीय जवानों ...

Share it