Top
Janta Ki Awaz

स्टार फुटबॉलर डिएगो माराडोना का निधन, अर्जेंटीना में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक

स्टार फुटबॉलर डिएगो माराडोना का निधन, अर्जेंटीना में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक
X

अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर डिएगो माराडोना का निधन हो गया है। न्यूज एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, अर्जेंटीना के इस दमदार फुटबॉलर की मौत हार्ट अटैक के कारण हुई है। 60 वर्षीय माराडोना अपने जमाने के दिग्गज फुटबॉलर थे। बीते कुछ समय से मारडोना का स्वास्थ्य कुछ ठीक नहीं था। यहां तक कि वे ड्रिपेशन के शिकार भी थे और उनका इलाज जारी था।

30 अक्टूबर 2020 को डिएगो माराडोना का 60वां जन्मदिन था और इसके तीन दिन के बाद वे डिप्रेशन के लक्षणों के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गए थे। माराडोना के करीबी ने न्यूज एजेंसी एपी को उस समय बताया था कि उनकी स्थिति गंभीर नहीं है, लेकिन कुछ ही सप्ताह के बाद उनका निधन हो गया। माराडोना की देखभाल में लगे एक कर्मचारी ने गोपनीयता की शर्त पर यह जानकारी दी थी कि वह एक सप्ताह से काफी दुखी थे और कुछ खाना भी नहीं खाते थे।

डिएगो माराडोना ने अर्जेंटीना को साल 1986 में विश्व कप जिताया था। वे उस टीम के कप्तान थे। 30 अक्टूबर 1960 को जन्मे डिएगो माराडोना एक अटैकिंग मिड-फील्डर के रूप में जाने जाते थे। खेल से विदा लेने के बाद वे भी इस खेल से जुड़े रहे। वर्तमान में वे अर्जेंटीना की टीम के मैनेजर थे। इसके अलावा उन्होंने कोचिंग की सेवाएं भी दी हैं। डिएगो माराडोना को फुटबॉल जगत के बेहतरीन खिलाड़ियों में गिना जाता है।

द गोल्डन ब्वॉय के नाम से फेमस डिएगो माराडोना ने अर्जेंटीना के लिए अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 91 कैप अर्जित किए और 34 गोल किए। माराडोना चार बार फीफा विश्व कप का हिस्सा रहे, जिसमें मैक्सिको में हुआ 1986 का विश्व कप भी शामिल है, जिसमें वे टीम के कप्तान थे और अर्जेंटीना ने फाइनल में वेस्ट जर्मनी पर जीत हासिल की थी। उस टूर्नामेंट के वे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी थे, जिसके लिए उनको गोल्डन बॉल मिली थी।

महज 5 फुट 5 इंच के डिएगो माराडोना जब गेंद को लेकर मैदान पर विरोधी खेमें मे घुसते थे तो खलबली मच जाती थी। गेंद को लेकर भागने की उनकी तेजी, गेंद पर उनका कंट्रोल वो सबकुछ इस तरीके से करते थे कि कोई समझ ही नहीं पाता था और माराडोना अपनी टीम के लिए गोल कर जाते हैं। अब वो सबकुछ सिर्फ यादों में सिमट कर रह जाएंगी क्योंकि 60 साल की उम्र में वो इस दुनिया को अलविदा कह गए। अर्जेंटीना को विश्व कप खिताब दिलाने वाले ये दिग्गज अब फुटबॉल फैंस की यादों में सिमट कर रह जाएगें।

डिएगो माराडोना के निधन के बाद अर्जेटीना के राष्ट्रपति एलबर्टो फर्नाडेज ने कहा कि, माराडोना को खोने का बहुत अफसोस है। उनकी जाने की क्षति की वजह से तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा करता हूं। वहीं ब्राजील के दिग्गज फुटबॉलर पेले ने कहा कि माराडोना के जाने का बहुत दुख है। एक दिन हम दोनों ही आसमान में एक साथ फुटबॉल खेलेंगे।

Next Story
Share it