Top
Janta Ki Awaz

पीएम मोदी बोले- भारत पहले वैक्सीन के लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहता था लेकिन अब नहीं

पीएम मोदी बोले- भारत पहले वैक्सीन के लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहता था लेकिन अब नहीं
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र के नाम अपना संबोधन दे रहे हैं। पीएम मोदी का आज का संबोधन बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि एक दिन पहले ही देश ने कोरोना वैक्सीनेशन के 100 करोड़ के आंकड़े को पार किया है। पीएम मोदी कोरोना काल में अब तक नौ बार देश को संबोधित कर चुके हैं।

भारत पहले वैक्सीन के लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहता था लेकिन अब नहीं

पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया के दूसरे बड़े देशों को वैक्सीन पर रिसर्च करने में, वैक्सीन खोजने में निपुणता थी। भारत, अधिकतर इन देशों की बनाई वैक्सीन पर ही निर्भर रहता था। लेकिन अब भारत आत्मनिर्भर हो गया है।

भारत के वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तुलना दुनिया के दूसरे देशों से: पीएम मोदी

पीएम मोदी बोले आज कई लोग भारत के वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तुलना दुनिया के दूसरे देशों से कर रहे हैं। भारत ने जिस तेजी से 100 करोड़ का, 1 बिलियन का आंकड़ा पार किया, उसकी सराहना भी हो रही है। लेकिन, इस विश्लेषण में एक बात अक्सर छूट जाती है कि हमने ये शुरुआत कहां से की।

100 करोड़ वैक्सीन डोज देश के सामर्थ्य का प्रतिबिंब

पीएम मोदी बोले 100 करोड़ वैक्सीन डोज केवल एक आंकड़ा ही नहीं, ये देश के सामर्थ्य का प्रतिबिंब भी है। इतिहास के नए अध्याय की रचना है। ये उस नए भारत की तस्वीर है, जो कठिन लक्ष्य निर्धारित कर, उन्हें हासिल करना जानता है।


Next Story
Share it