Top
Janta Ki Awaz

PAK अभिनंदन को नहीं छोड़ता तो फॉरवर्ड बेस तबाह कर देते

PAK अभिनंदन को नहीं छोड़ता तो फॉरवर्ड बेस तबाह कर देते
X

पाकिस्तान की असेंबली में विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर हुए जिक्र के बाद पड़ोसी मुल्क की पोल खुल गई है. खुद पाकिस्तान ने दावा किया कि कैसे उसने डर के कारण अभिनंदन को छोड़ा था. अब इसी कबूलनामे पर भारतीय वायुसेना के पूर्व प्रमुख बीएस धनोआ ने प्रतिक्रिया दी है. जब बालाकोट एयरस्ट्राइक हुई थी, तब बीएस धनोआ ही वायुसेना के चीफ थे.

बीएस धनोआ ने कहा कि मैंने अभिनंदन के पिता को वादा किया था कि हम उसे वापस लाएंगे. हमें 1999 की घटना याद है जब पाकिस्तान ने अंतिम वक्त पर धोखा दिया था, इसलिए हम सतर्क थे. पूर्व वायुसेना प्रमुख ने कहा कि मैंने अभिनंदन के पिता के साथ काम किया है.

पाकिस्तानी सांसद के कबूलनामे पर बीएस धनोआ ने कहा कि वो जिस तरह से बयान दे रहे हैं उसका कारण उस वक्त भारतीय वायुसेना की पोजिशन थी, जो अग्रेसिव थी. हम ऐसी स्थिति में थे कि उनकी पूरी ब्रिगेड को खत्म कर सकते थे और पाकिस्तान ये बात जानता था.


बीएस धनोआ ने कहा कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान पर कूटनीतिक और रणनीतिक तौर पर दबाव था. उन्हें मालूम था कि अगर लाइन क्रॉस की तो उसका अंजाम भुगतना पड़ सकता है.

आपको बता दें कि फरवरी 2019 में पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने बालाकोट में एयरस्ट्राइक की थी. इसके अगले दिन पाकिस्तान ने अपने विमानों को भारत की ओर भेजा था, तब उन्हें खदेड़ते हुए विंग कमांडर अभिनंदन उस ओर गिर गए थे. लेकिन 48 घंटे के अंदर पाकिस्तान को उन्हें छोड़ना पड़ा था.

अब पाकिस्तान की असेंबली में एक सदस्य ने इस बात को कबूला है कि उस वक्त पाकिस्तानी सेना के प्रमुख की हालत खराब थी और अगर पाकिस्तान अभिनंदन को नहीं छोड़ता, तो भारत हमला कर सकता था.

Next Story
Share it