Top
Janta Ki Awaz

कुपोषण की जंग को जीत आराध्या हुई सुपोषित, मनाया गया जन्मदिन

कुपोषण की जंग को जीत आराध्या हुई सुपोषित, मनाया गया जन्मदिन
X

प्रयागराज 23 सितम्बर : बच्चों व उनके परिजन को पोषण के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम गुरुवार को जनपद के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर स्वस्थ बालक-बालिका प्रतियोगिता आयोजित हुई। शहर प्रथम के आंगनबाड़ी केन्द्र बेली रोड में कार्यक्रम शुभारम्भ मुख्य आतिथि के रूप में अर्बन नोडल स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ राघवेन्द्र सिंह व लाइन्स क्लब कि चेयर पर्सन अनुरागिनी सिंह ने दीप प्रज्वालित कर और जिला कार्यक्रम अधिकारी दिनेश सिंह ने फीता काट कर किया।

जिला कार्यक्रम अधिकारी दिनेश सिंह ने उपस्थित लोगों को बड़े आसान शब्दों में पोषक तत्वों का महत्व समझाया। उन्होंने चना, गुड़, चोकर सहित आटे की रोटी, चोकर का हलवा, हरी मिर्च के गुण और अमरूद के फायदे बताए। उन्होंने कहा कि महंगी खाद्य पदार्थों के पीछे न भागें बल्कि बच्चों को रोटी पराठे खाने की आदत डालें। उन्होंने सुपोषित बच्चो के अभिभावकों को बधाई देते हुए अपने आसपास भी इस जानकारी को पहुंचाने के लिए कहा। कार्यक्रम में आराध्या जो कि कुछ समय पहले कुपोषित थी।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सूझबूझ एवं अभिभावक के प्रयास से बच्ची स्वस्थ्य हुई। यहां इसका जन्मदिवस भी मनाया गया।





उन्होंने बताया कि आज जनपद के समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों पर स्वस्थ्य बालक बालिका स्पर्धा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे 4 लाख 77 हज़ार 23 बच्चो का वजन किया गया| कार्यक्रम में 3 लाख 28 हज़ार 638 बच्चो ने भाग लिया एवं जिसमे 1 लाख 45 हज़ार 446 बच्चो के माता पिता व अभिभावक सम्मलित हुए | जनपद में कुल 3 हज़ार 912 प्रतियोगिताएं आयोजित कि गई | जिसमे पूर्ण अंक प्राप्त किये 11 हज़ार 719 बच्चों को 2 अक्टूबर को पुरस्कृत किया जाएगा।

अर्बन नोडल स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ राघवेन्द्र सिंह ने उपस्थित बच्चो तथा उनके अभिभावक को पोषण के बारे में विस्तृत जानकारी दी उन्होंने कहा कि घर में आने वाले खाद्य पदार्थो का पूरा प्रयोग करे जैसे विभिन्न प्रकार कि दाले चावल रोटी मौसमी सब्जी फल जो आसानी से उपलब्ध हैं उन्होंने बताया कि बच्चे को थोड़े थोड़े देर पर खाना अवश्य खिलाएं बच्चो को भूख का अंदाजा कम होता हो है और खेल खेल में शरीर उर्जा जल्दी ख़त्म कर देते हैं और समय से पूर्ण भोजन न मिलने के कारण वो धीरे धीरे कुपोषित होने लगते है| बच्चो को समय से पूर्ण भोजन उन्हें स्वस्थ रखता हैं |

उन्होंने आगे जानकारी देते हुए बताया कि यदि कोई बच्चा कुपोषित होता है तो उसे स्वास्थ्य विभाग की टीम आशा आंगनबाड़ी से तुरंत संपर्क कर पोषण पुनर्वास केंद पर ले जाये जहाँ बच्चे का इलाज एवं अभिभावक को रुकने पर उसे राशि देने का प्रावधान भी हैं |

लाइन्स क्लब कि चेयर पर्सन अनुरागिनी सिंह ने केंद्र पर उपस्थित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को उनके कार्यों के लिए बधाई दी उन्होंने कहा कि यदि शुरुआती स्तर पर ही बच्चे के कुपोषण की पहचान हो जाये तो उसे गं

भीर होने से बचाया जा सकता हैं जिसके लिए हर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को सदैव तत्पर रहना होगा |

संजिता सिंह बाल विकास परियोजना अधिकारी शहर प्रथम ने बताया कि राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत पूरे माह अलग कार्यक्रम कर पोषण के प्रति जागरूकता फैलाई जा रही है इसी के अंतर्गत वार्ड में पोषण पंचायत का गठन किया गया जिसकी अध्यक्ष रोजनील तथा दस सदस्य हैं जो कि केंद्र के बच्चो एवं गर्भवती महिलाओं के पोषण कि देख रेख करेंगे उन्होंने बताया कि वार्ड बेली में संचालित दोने केंद्र पर 10 बच्चे प्रतियोगिता में जीते हैं |

कार्यक्रम में सुपरवाईजर बबीता सिंह,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुनीता सिंह प्रियंका सिंह , सहायिका कमला गौड़ उषा मौजूद रहे |

Next Story
Share it