Top
Janta Ki Awaz

सीएम योगी का अखिलेश पर तंज, बोले- हाथ जोड़कर बस्ती लूटने वाले भरी सभा में सुधारो की बात करते हैं

सीएम योगी का अखिलेश पर तंज, बोले- हाथ जोड़कर बस्ती लूटने वाले भरी सभा में सुधारो की बात करते हैं
X

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए सपा सरकार पर निशाना साधा और अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 2017 के बाद से प्रदेश की छवि बदली है। भाजपा सरकार में प्रदेश नए भारत का नया उत्तर प्रदेश बन रहा है। उन्होंने अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा, 'नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पर चांद-सितारों की बात करते हैं... हाथ जोड़कर बस्ती को लूटने वाले, सभा में सुधारों की बात करते हैं।'

मुख्यमंत्री ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष (अखिलेश यादव) ने कल एक घंटे का भाषण दिया। ऐसा लग रहा था कि ये चुनावी भाषण है। जनता ने भाजपा का काम देखकर ही हमें फिर से जिताया है। 2022 में भाजपा को मिला जनादेश उस सम्मान का प्रतीक है जो जनता ने हमें दिया है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि भाजपा सरकार के कारण आज यूपी दंगामुक्त हो चुका है। प्रदेश में कानून का राज है। यूपी चुनाव के दौरान हिंसा नहीं हुई पर इसके पहले क्या होता था सब जानते हैं। अगर प्रदेश में भाजपा की सरकार न होती तो चुनाव में हिंसा हो जाती। प्रदेश में एक लाख 54 हजार पुलिस भर्ती की प्रक्रिया को पारदर्शी तरीके से पूरा किया गया। पहले ऐसा नहीं हो पाता था। योग्य अभ्यर्थियों को मौका नहीं मिल पाता था। पुलिस सुधार हुआ है। यह सब भाजपा सरकार के कारण ही है। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए भाजपा सरकार ने 2017 में सत्ता में आते ही 86 लाख किसानों का कर्ज माफ किया। जबकि 2004 से 2017 के बीच प्रदेश में सर्वाधिक किसानों ने आत्महत्या की। हमारी सरकार में पांच लाख सरकारी नौकरियां दी गईं। एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार से जोड़ा गया।

मुख्यमंत्री योगी ने यूपी चुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि पहले चरण के मतदान में कहा जा रहा था कि भाजपा हार जाएगी पर भाजपा ने पहले चरण की 58 सीटों में से 46 पर जीत दर्ज की। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि किसानों को पता है कि उनका असली हितैषी कौन है? 2017 के पहले केंद्र सरकार राज्य को 20 कृषि विज्ञान केंद्र देना चाहता था पर यूपी में सरकारें नहीं लेती थीं। 2017 के बाद प्रदेश को 20 कृषि विज्ञान केंद्र मिले हैं। जिसमें किसानों को प्रशिक्षण, खाद और अच्छे बीज देने की व्यवस्था की गई है।

Next Story
Share it