Top
Janta Ki Awaz

बांदा में 'बिकरू' जैसा कांड, पुलिस टीम पर पथराव, लाठियों से पीट कर गांव में दौड़ाया

बांदा में बिकरू जैसा कांड, पुलिस टीम पर पथराव, लाठियों से पीट कर गांव में दौड़ाया
X

बांदा, । मारपीट के मामले की नोटिस तामील कराने गए सिपाहियों से दबंग परिवार ने गाली-गलौज कर विवाद किया। नोटिस का कागज फाड़ने के साथ पुलिस कर्मियों को हंसिया व लाठी-डंडों से दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। हमलावरों ने पथराव भी किया। जिसमें चार सिपाही घायल हो गए। उनकी वर्दी फट गई, एक सिपाही का मोबाइल छीन लिया। पीट रहे सिपाहियों को ग्राम प्रधान के घर में घुसकर जान बचानी पड़ी। जब तक कई थानों का फोर्स मौके पर गया तब तक हमलावर भाग चुके थे। पुलिस ने चार महिलाओं को हिरासत में लिया है। घायल सिपाहियों को सीएचसी बबेरू में भर्ती कराया गया है।

बबेरू के ग्राम सिमौनी चौकी के सिपाही 27 वर्षीय सुखबीर सिंह व 28 वर्षीय बृजेश कुमार शुक्रवार सुबह करीब दस बजे बाइक से पंडरी गांव वहां के केशव यादव को मारपीट के पुराने मामले की नोटिस तामील कराने गए थे। वहां ट्यूबवेल में केशव यादव व उसके परिवार के लोग ईंट की पथाई कर रहे थे। जिसमें दबंग परिवार ने नोटिस लेने की जगह उसे फाड़ दिया। सिपाहियों के सरकारी कागज का विरोध करने पर केशव उसके पुत्रों व भतीजों, नाती समेत महिलाओं ने गाली-गलौज कर विवाद किया। बात बढ़ने पर दबंग परिवार ने सिपाहियों के ऊपर लाठी-डंडों व हंसिया से हमलाकर करने के साथ पथराव करना शुरू कर दिया। जिसमें पुलिसकर्मी सुखबीर लहूलुहान होकर गिर गया। उसका सिर फटने के साथ हाथ-पैरों में गंभीर चोटें आईं। इस बीच मौका पाकर सिपाही बृजेश भूसे के ढेर के पीछे छिप गया। वहां से उसने गांव में मौजूद दो अन्य पुलिस कर्मी 25 वर्षीय प्रवेश यादव,व 28 वर्षीय सलमान खान को बुला लिया। जिसमें सिपाहियों की संख्या कम होने से दबंगों ने उन्हें भी दौड़ा-दौड़ाकर पीटना शुरू कर दिया। जिसमें सभी पुलिस कर्मी घायल हो गए। वह बचने के लिए काफी देर तक इधर-उधर भागते रहे। बाद में ग्राम प्रधान हिमांचल यादव के घर में घुसकर उन्होंने अपनी जान बचाई। वहां से उन्होंने बबेरू कोतवाली व चौकी समेत अन्य अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। जिसमें सीओ बबेरू सत्यप्रकाश शर्मा, बबेरू कोतवाली निरीक्षक अरूण कुमार पाठक के अलावा तिंदवारी, बिसंडा, कमासिन व मरका थाने का फोर्स गांव गया।


इस बीच हमलावर सभी लोग फरार हो चुके थे। पुलिस ने चार महिलाओं को गांव से हिरासत में लिया है। जिनसे पुलिस कोतवाली में पूछताछ कर रही है। सीओ सत्यप्रकाश शर्मा ने बताया कि घायल पुलिसकर्मी सुखबीर की तहरीर पर हमलावर आरोपित केशव प्रसाद, उसके पुत्र जोगेंद्र, देव प्रसाद, धनरेश, भतीजे देवकुमार, राजकुमार, विजय व नाती शैलेंद्र, शिवम समेत छह अज्ञात महिलाओं के विरुद्ध बलवा, हमला, मारपीट, सरकारी कार्यों में बाधा पहुंचाने आदि गंभीर घाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। फरार आरोपितों को पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है।

Next Story
Share it