Top
Janta Ki Awaz

हापुड़ के इस गांव में बीजेपी छोड़कर अन्य दलों के प्रत्याशियों की एंट्री पर लगी रोक

हापुड़ के इस गांव में बीजेपी छोड़कर अन्य दलों के प्रत्याशियों की एंट्री पर लगी रोक
X

हापुड़. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही हापुड़ जनपद का एक गांव इन दिनों खूब चर्चा में है. हापुड़ जनपद का लाखन गांव एक पोस्टर के लिए खूब चर्चा का विषय बन रहा है. धौलाना विधानसभा के अंतर्गत आने वाले इस गांव के सभी लोगों ने सीएम योगी आदित्यनाथ के समर्थन में गांव के सभी रास्तों पर पोस्टर-बैनर लगा दिए हैं और उन पर लिख दिया है कि 'हमारा गांव लाखन योगी आदित्यनाथ जी के साथ है यहां किसी और पार्टी के उम्मीदवार आकर अपना समय बर्बाद ना करें.' इस तरह के पोस्टर गांव के सभी रास्तों पर लगा दिए गए हैं, जिसके चलते यह गांव सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है. आस-पास के गांव में भी इस गांव की चर्चाएं की जा रही है.

ग्रामीणों का कहना है कि योगी सरकार ने अपने 5 साल के कार्यकाल में बेहतर विकास कार्य, स्वास्थ्य सुविधाएं और गरीबों को राशन देने का काम किया है. इसलिए वो फिर से प्रदेश में योगी सरकार और धौलाना विधानसभा में बीजेपी के विधायक का समर्थन करते हैं. ग्राम प्रधान के साथ सभी लोगों ने मिलकर अपनी सहमति से यह पोस्टर लगाए हैं. ग्राम प्रधान नितेन्द्र तोमर का कहना है कि प्रदेश में योगी सरकार होने के बावजूद धौलाना विधानसभा में बीजेपी का विधायक नहीं था. जिसके चलते क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हो सका. 5 साल तक बसपा से विधायक रहे असलम चौधरी यहां कभी दिखाई नहीं दिए. अब यहां की जनता बीजेपी के विधायक को चुनेगी जिससे विकास कार्य तेजी से होंगे.

बता दें कि लाखन गांव की आबादी करीब 3000 के आसपास है लेकिन यहां 2600 मतदाता वोट डालते हैं. ग्रामीणों का कहना है कि जब से उन्होंने यह पोस्टर और बैनर लगाए हैं तब से अन्य किसी पार्टी का कोई भी प्रत्याशी उनके गांव में नहीं आया है. गांव निवासी भूरे का कहना है कि धौलाना विधानसभा से बसपा के विधायक रहे असलम चौधरी आज तक गांव में नहीं आए हैं, जिसके चलते विकास कार्य नहीं हुए. इसलिए उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार के समर्थन में यह पोस्टर लगाए हैं.


Next Story
Share it