Top
Janta Ki Awaz

मैं जिसका साथ छोड़ता हूं उसका अता-पता हीं रहता- मौर्य

मैं जिसका साथ छोड़ता हूं उसका अता-पता हीं रहता- मौर्य
X

स्वामी प्रसाद मौर्य सपा में शामिल हो गए हैं. उनके साथ पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी और बीजेपी छोड़कर आए 6 विधायक भी सपा में गए. इसके अलावा कुछ अन्य नेताओं, पूर्व विधायकों ने भी सपा का दामन थामा है. अखिलेश यादव इस दौरान मंच पर मौजूद थे.

सपा में शामिल होने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर हमला बोला. वह बोले कि मकर संक्रांति बीजेपी के अंत का इतिहास रचने जा रहा है. जो बीजेपी के लोग कुंभकर्णी नींद सो रहे थे उनको अब नींद ही नहीं आ रही है. पहले वे लोग हमारी बात नहीं सुनते थे.

बीजेपी के कुछ लोग कहते हैं कि पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया. कुछ कहते हैं बेटे के चक्कर में बीजेपी छोड़ी है. मैं बताना चाहता हूं कि बीजेपी ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हथियाई थी. सरकार बनाएं दलित और पिछड़े, मलाई खाएं अगड़े, पांच फीसदी लोग. स्वामी बोले कि 85 तो हमारा है, 15 में भी बंटवारा है.

मौर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठकर योगी पाप करते हैं और हिंदुओं की दुहाई देते हैं. उन्होंने कहा कि क्या आपकी नजर में कुछ बड़ी जाति के लोग ही हिंदू हैं, वही 10 से 5 प्रतिशत. फिर तो आपका बिस्तर पैक होना तय है. वह बोले कि अब सब एक साथ खड़े होंगे आज जिन 10 प्रतिशत को आप हिंदू मानते हो, उनमें भी बंटवारा होगा क्योंकि उसमे भी कुछ समाजवादी और अंबेडकरवादी हैं.

मौर्य ने कहा कि बीजेपी ने केशव मौर्य और स्वामी मौर्य का नाम उछाल कर सरकार बनाई थी. चर्चा थी कि सीएम होंगे केशव या स्वामी पर हुआ क्या. पहले गाजीपुर से स्काईलैंप उतारने की कोशिश की गई. फिर स्काईलैंप आते-आते बीच में ही ब्लास्ट हो गया. दूसरा स्काईलैंप गोरखपुर से लाकर पिछड़े की आंखों में धूल झोंकी गई.

मौर्य ने कहा कि मैं जिसका साथ छोड़ता हूं उसका कहीं अता पता नहीं रहता है. बहन जी (मायावती) इसका जीता जागता उदाहरण हैं. वह बाबा साहब और कांशीराम के सिद्धांतो से हट गई थीं, उन्हे घमंड हो गया था. बहन मायावती ने दूसरा नारा दिया जिसकी जितनी तैयारी उसकी उतनी भागीदारी वह थैली वालों के साथ खड़ी हो गईं.

बीएसपी तब नंबर 1 पर थी, बीजेपी 3 पर थी और जैसे ही मैंने बीएसपी छोड़ी बीजेपी आकाश चढ़ गई पर अब मैं उन्हें कहना चाहता हूं आपके बुरे दिन आ गए हैं. मेरे साथ कई लोग आ रहे हैं, इस्तीफा देने का सिलसिला चलता रहेगा.

Next Story
Share it