Top
Janta Ki Awaz

गठबंधन ने बढ़ाई टिकट की आस में सपा में शामिल हुए दावेदारों के दिलों की धड़कनें

गठबंधन ने बढ़ाई टिकट की आस में सपा में शामिल हुए दावेदारों के दिलों की धड़कनें
X

आगरा में दल बदलकर चुनाव से पहले साइकिल पर सवार हुए दिग्गजों की अब सीटों के बंटवारे पर नजर है। आगरा जिले में नौ सीटें हैं। जिनके लिए सबका अपना गणित है। दावेदार गोटियां सेट करने में जुट गए हैं। लखनऊ की दौड़ भी तेज हो गई है। टिकट की आस में समाजवादी पार्टी में शामिल हुए दावेदारों के दिल की धड़कनें बढ़ रही हैं।

जिले से साइकिल पर अभी तक कोई लखनऊ नहीं पहुंचा है। वर्तमान राजनीतिक हालात में सपाई उत्साहित हैं। नए साल में होने वाले विधानसभा चुनाव में टिकट की उम्मीद लगाए बैठे दिग्गजों में भी हलचल शुरू हो गई है। नए समर में रालोद, सपा के साथ कदम बढ़ाएगी।

आगरा की सीटों पर सपा ने नहीं खोले पत्ते

आगरा में कितनी सीट रालोद के खाते में आएगी ये पत्ते अभी नहीं खुले हैं। जाट बेल्ट में रालोद पकड़ मजबूत करना चाहता है। प्रसपा भी गठबंधन की कतार में खड़ी है। उधर, महान दल से सपा पहले ही हाथ मिला चुकी है।

बसपा छोड़कर साइकिल पर सवार हुए दिग्गज दो महीने पहले ही लखनऊ में अपना दावा पेश कर चुके हैं। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि गठबंधन में कहां साइकिल चलेगी और कहां हैंडपंप। जिले की नौ सीटों पर राजनीति गर्मा रही है। दिसंबर में गठबंधन के पत्ते खुल जाएंगे। जिसके बाद चुनावी जंग और तेज होगी।

लग सकता है झटका, बदल सकता है सिंबल

सीटों के बंटवारे में टिकट की आस लगाए बैठे दावेदारों को झटका लग सकता है। ऐसे में असंतोष के स्वर नहीं बढ़े इस चुनौती से निपटने के लिए सपा प्रत्याशी और सिंबल बदलने का फार्मूला अपना सकती है। गठबंधन के प्रत्याशियों को साइकिल का सिंबल मिल सकता है।

शहर की सभी सीटों पर सपा, देहात में बंटवारा

शहर की सभी सीटों पर सपा लड़ेगी। देहात में सीटों को लेकर बंटवारा हो सकता है। देहात में खेरागढ़, ग्रामीण, फतेहपुर सीकरी, एत्मादपुर, बाह, फतेहाबाद सीट हैं जबकि शहर में आगरा दक्षिण, उत्तर व छावनी क्षेत्र है।


Next Story
Share it