Top
Janta Ki Awaz

गैंगरेप के आरोप में डेढ़ साल बाद दरोगा,ट्रेनिंग सेंटर से हुआ गिरफ्तार

गैंगरेप के आरोप में डेढ़ साल बाद दरोगा,ट्रेनिंग सेंटर से हुआ गिरफ्तार
X

वाराणसी से अश्विनी कुमार चौहान

वाराणसी।भेलूपुर पुलिस ने गैंगरेप के आरोप में डेढ़ साल से ज्यादा समय से वांछित दरोगा उमराव खान को सीतापुर स्थित पुलिस ट्रेनिंग सेंटर से मंगलवार को गिरफ्तार किया है।

बता दें कि दरोगा उमराव इंस्पेक्टर की ट्रेनिंग करने के लिए सीतापुर गया हुआ था।जहा से पुलिस टीम ने इसकी पुष्टि कर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपीत उमराव खान को वाराणसी की अदालत में पेश किया जाएगा।

भेलूपुर थाना अंतर्गत बजरडीहा क्षेत्र की एक महिला ने वर्ष 2019 में गैंगरेप का आरोप लगाया था।आरोपियों ने 4 बच्चों की मां को नशीला पदार्थ खिलाकर गैंगरेप किया था और उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया था।इसके बाद एक युवक ने वीडियो सोशल मीडिया में वायरल कर दिया था।पीड़िता के पास जब वह वीडियो पहुंचा तो वह 3 फरवरी 2020 को भेलूपुर थाने की पुलिस से संपर्क कर तत्कालीन बजरडीहा चौकी पर तैनात दरोगा उमराव खान,बजरडीहा निवासी इब्राहिम,हाजी मैनुद्दीन और एक अन्य पर गैंग रेप का आरोप लगाया था।

बजरडीहा के कोल्हुआ निवासी मो शाहिद पर पीड़िता ने गैंगरेप का वीडियो वायरल करने का आरोप लगाया था।अन्य आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए थे लेकिन दरोगा की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी।कारण कि उसका तबादला वाराणसी से अन्यत्र हो गया था।

पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि आरोपी दरोगा मुकदमे में वांछित था।भेलूपुर थाने की पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है और अदालत में पेश करेगी।मुकदमा चाहे पुलिसकर्मी पर हों या आम आदमी के खिलाफ हों,कानून सभी के लिए बराबर है।दरोगा उमराव खान पहले भी वाराणसी में चर्चित रहा है।30 अक्टूबर 2017 को दरोगा उमराव एक मुकदमे की पैरवी के लिए कचहरी गया था। उस दौरान पहले के एक विवाद को लेकर एक अधिवक्ता दरोगा से उलझ गए थे।

Next Story
Share it