Top
Janta Ki Awaz

टीएमयू में फिश फार्मिंग के दिए टिप्स

टीएमयू में फिश फार्मिंग के दिए टिप्स
X


तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ़ एग्रीकल्चर साइंसेज में छात्रों को पढ़ाई के साथ-साथ व्यवसाय प्रारभ्म करने की ट्रेनिंग भी दी जाती है ताकि छात्र चाहे तो अपना उद्यम प्रारम्भ कर सकें। इसी कड़ी में कॉलेज के एलुमिनाई श्री हिमालय पटेल ने फिश फार्मिंग पर आयोजित कार्यशाला में बताया कि फिश फार्मिंग को कैसे किया जाता है? कितनी जमीन की आवश्यकता होती है? क्या- क्या तकनीकी और सरकारी योजनाएं चल रही हैं? किस प्रकार अपना कारोबार स्थापित कर सकते हैं? फिश फार्मिंग के व्यवसाय में श्री पटेल अपने दो भाइयों के साथ पूर्ण रूप से जुटे हैं। उन्होंने कहा, वह कॉलेज के छात्रों को फिश फार्मिंग पर ट्रेनिंग और किसी भी प्रकार की मदद के लिए हमेशा तैयार हैं। उन्होंने बताया, किस प्रकार से फिश फार्मिंग एक कैश क्रॉप की तरह किसानों की आय बढ़ाने में मदद करता है। वर्कशॉप में छात्र कल्याण निदेशक प्रो. एम. पी . सिंह ने कहा, हमारे एल्युमिनाई छात्र विभिन्न क्षेत्रों में अपने संग-संग कॉलेज और यूनिवर्सिटी का नाम भी रोशन कर रहे हैं। आईआईसी के कन्वीनर डॉ. देवेन्द्र पाल सिंह ने अपने एल्युमिनाई का आभार व्यक्त किया। वर्कशॉप के अंत में डॉ. शाकुली सक्सेना ने इस मौके पर मौजूद रही सभी फैकल्टी, स्टाफ और छात्रों को धन्यवाद दिया।

Next Story
Share it