Top
Janta Ki Awaz

राजा भैया के गढ़ में सपा ने दिखाया दम, जिला पंचायत अध्‍यक्ष की कुर्सी के लिए होगा कड़ा मुकाबला

राजा भैया के गढ़ में सपा ने दिखाया दम, जिला पंचायत अध्‍यक्ष की कुर्सी के लिए होगा कड़ा मुकाबला
X

प्रतापगढ़. यूपी के प्रतापगढ़ में पंचायत चुनाव संपन्‍न होने के साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी के लिए जंगे-ए-मैदान की तस्वीर काफी हद तक साफ हो चुकी है. प्रतापगढ़ के कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप उर्फ राजा भैया का जादू इस बार भी जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में भी खूब चला है जिसके चलते उनके विरोधी खेमे में हड़कम्प मचा हुआ है. प्रतापगढ़ में बीती रात देर तक 57 सीटें में से 56 जिला पंचायत सदस्य की सीटों का परिणाम जिला प्रशासन ने घोषित कर दिया. जबकि इस दौरान 16 जिला पंचायत सदस्य की सीट जीत कर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है और इसके चलते सपा के नेता और कार्यकर्ता खुश है.

पंचायत चुनाव के दौरान राजा भैया की जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी ने एक बार फिर विरोधियों की घेराबंदी के बाबजूद 12 सीटें जीतकर अपना परचम लहरा दिया है. साफ है कि एक बार फिर उन्‍होंने सपा,भाजपा, बसपा और कांग्रेस को अपनी राजनीतिक शक्ति का आभास कर दिया. आखिर कई सालों से जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर उनके समर्थकों का कब्जा क्यों बरकरार है.

सात सीटों पर सिमटी भाजपा

प्रतापगढ़ में सपा ने 16, तो राजा भैया की पार्टी ने 12 सीटों पर जीत दर्ज की है. वहीं, भाजपा पूरी ताकत झोंकने के बाद भी मात्र 7 सीट ही जीत हासिल कर सकी. इसके अलावा कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी के गढ़ में कांग्रेस ने 5 सीट पर कब्जा जमाया है. जबकि बसपा समर्थित प्रत्याशी को दो सीट, अपना दल को 1 सीट और 13 सीट पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है. यही नहीं, जिला पंचायत अध्‍यक्ष की कुर्सी के लिए सपा और राजा भैया के बीच दिलचस्‍प मुकाबला होगा, जिसमें 13 निर्दलीय प्रत्‍याशियों की भूमिका अहम रहेगी.

Next Story