Top
Janta Ki Awaz

चंदौली : मतगणना की प्रक्रिया आरंभ...दोपहर तक परिणाम आने की उम्मीद, देखिए जब COVID प्रोटोकाल का पालन कराने को एसपी को खुद उतरना मैदान में...

चंदौली : मतगणना की प्रक्रिया आरंभ...दोपहर तक परिणाम आने की उम्मीद, देखिए जब COVID प्रोटोकाल का पालन कराने को एसपी को खुद उतरना मैदान में...
X


त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए मतगणना की प्रक्रिया रविवार की सुबह आठ बजे से आरम्भ हो गई है। जनपद के नौ ब्लाकों में बनाए गए मतगणना स्थलों पर आज प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा। सुबह मतगणना कर्मचारी बैलेट पेपर की गड्डी तैयार करते देखे गए। मतगणना स्थलों पर कोरोना से बचाव व सुरक्षा को लेकर जिला प्रशासन द्वारा विशेष सतर्कता बरती गई है। सिर्फ अभिकर्ताओं को ही अंदर प्रवेश की अनुमति दी गई है।

बता दें कि मतगणना स्थल पर प्रत्याशी एवं अभिकर्ताओं की अंदर प्रवेश से पूर्व आर टी पी आर रिपोर्ट की जांच की जा रही है वहीं थर्मल स्कैनिंग कर शरीर का तापमान नापा जा रहा है। साथ ही आक्सी मीटर से आक्सीजन लेबल भी नापा जा रहा है। कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही अंदर प्रवेश की अनुमति दी जा रही है।

सबसे पहले ग्राम पंचायत सदस्यों के वोटों की गिनती की जाएगी, इसके पश्चात ग्राम प्रधानों के मतों की गणना की जाएगी। इस प्रक्रिया के लिए अल्फाबेटिकल फार्मूला अपनाया गया है। सबसे अंत में जिला पंचायत सदस्यों के मतों की गिनती होगी। दोपहर बाद तक परिणाम आने शुरू हो जाएंगे।

विदित हो कि जनपद चंदौली में 734 प्रधान, 35 जिला पंचायत सदस्य, 886 बिडिसि और नौ हजार ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए 26 अप्रैल को मतदान हुआ था। हालांकि छह ग्राम प्रधान सीट पर एक एक प्रत्याशी के निधन से यहां मतदान स्थगित हो गया था। अब नौ मई को इन छह सीटों पर मतदान प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी। जिले में कुल 58.98 प्रतिशत मतदान हुआ था। सभी मतगणना स्थल पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच वोटों कि गिनती शुरू की गई है। लगभग चार हजार कर्मचारी इसके लिए लगाए गए हैं।

हालांकि इतनी चुस्त दुरुस्त प्रक्रिया के बावजूद मतगणना स्थल के बाहर भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। इस कारण शोशल डिस्टेंसि का पालन न के बराबर दिख रहा है। प्रत्याशियों के समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा है जिसे कंट्रोल करने के लिए खुद एसपी अमित कुमार को मैदान में उतरकर कमान संभालनी पड़ी। इस दौरान उन्होंने उपस्थित भीड़ से निवेदन करते हुए एलाउंस किया कि शोशल डिस्टेसी का पालन में लाएं और अनावश्यक भीड़ इकट्ठा न करें अन्यथा पुलिस प्रशासन को मजबूरन कड़ा कदम उठाने के लिए मजुबुर होना पड़ेगा तब जाकर कुछ हद तक भीड़ तितर बितर हुई।

रिपोर्ट : ओ पी श्रीवास्तव

Next Story