Top
Janta Ki Awaz

उत्तर प्रदेश सरकार ने 13 जिलों में भेजे नोडल अधिकारी

उत्तर प्रदेश सरकार ने 13 जिलों में भेजे नोडल अधिकारी
X

लखनऊ, । कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार तेजी से होते देख उत्तर प्रदेश की योगी सरकार फिर से पहले की तरह प्रबंधन में जुट गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों हालात की समीक्षा कर निर्देश दिया था कि जहां संक्रमण ज्यादा है, ऐसे जिलों में विशेष सचिव स्तर के अधिकारी नोडल अधिकारी बनाकर भेजे जाएं। इसी क्रम में शासन ने 13 जिलों के नोडल अधिकारी नामित कर दिए हैं।

अपर मुख्य सचिव नियुक्ति मुकुल सिंहल की ओर से निर्देशित किया गया है कि यह अधिकारी पंद्रह दिन तक आवंटित जिले में प्रवास करेंगे। वहां जिलाधिकारी के साथ संबद्ध रहकर कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों के इलाज और संक्रमण के प्रसार को रोकने संबंधी कार्यों की निगरानी करेंगे। शासन से जारी दिशा निर्देशों का पालन कराएंगे।

जिले : नोडल अधिकारी

लखनऊ : विपिन कुमार जैन, विशेष सचिव नगर विकास

कानपुर नगर : अंजनी कुमार सिंह, निदेशक राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद

प्रयागराज : आलोक सिंह, अपर निदेशक सूडा लखनऊ

गाजियाबाद : अमनदीप डुली, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्ध नगर : रवींद्र सिंह, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी

वाराणसी : संदीप कुमार, मुख्य कार्यपालक अधिकारी भदोही औद्योगिक विकास प्राधिकरण

मेरठ : प्रवीण मिश्रा, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा

गोरखपुर : पवन अग्रवाल, मुख्य कार्यपालक अधिकारी गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण

झांसी : गिरिजेश कुमार त्यागी, विशेष सचिव लोक निर्माण विभाग

आगरा : अरविंद कुमार चौहान, सचिव उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड

सहारनपुर : मनोज कुमार-द्वितीय, निदेशक कृषि विपणन एवं कृषि विदेश व्यापार विभाग

बरेली : मनोज कुमार, विशेष सचिव उच्च शिक्षा विभाग

मुरादाबाद : डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी, विशेष सचिव नगर विकास विभाग

10 दिनों में बढ़ गई संक्रमण की नौ गुना रफ्तार : बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में 10 दिनों में नौ गुना तक की बढ़ोतरी हो गई है। 30 मार्च को प्रदेश में 918 रोगी मिले थे और गुरुवार को 8,490 मिले यानी अब एक दिन में नौ गुना तक रोगी बढ़ गए हैं। उस समय 500 से अधिक मरीज सिर्फ लखनऊ में थे। अब 10 जिलों में 500 से ज्यादा मरीज हैं। इसी तरह 100 मरीजों वाले जिलों की संख्या भी 20 से बढ़कर 60 तक पहुंच गई है। 30 मार्च को 10 रोगियों की मौत हुई थी और उसके बाद से लगातार ज्यादा मरीजों की मौत हो रही है। गुरुवार को 39 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई। प्रतिदिन हो रही मौत भी करीब चार गुना तक बढ़ गई है। यही नहीं, उस समय कोरोना से संक्रमित रोगियों की कुल संख्या 9,195 थी और अब यह बढ़कर 39,338 हो गई है। एक्टिव केस भी दस दिनों में चार गुना से अधिक बढ़ गए। 500 से ज्यादा मरीज वाले 10 जिलों में लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, गोरखपुर, बरेली व ललितपुर शामिल हैं।

Next Story