Top
Janta Ki Awaz

PFI के आठ स्लीपर सेल ATS के रडार पर, गतिविधियों पर पुलिस की पैनी नजर

PFI के आठ स्लीपर सेल ATS के रडार पर, गतिविधियों पर पुलिस की पैनी नजर
X

बहराइच, । लखनऊ से गिरफ्तार पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआइ) के दो सक्रिय सदस्यों के तार बहराइच से भी जुड़े हैं। पूछताछ में आठ स्लीपर सेल के यहां सक्रिय होने की जानकारी एजेंसियों को लगी है। इनकी तलाश के लिए एटीएस की एक टीम बहराइच में डेरा जमाए हुए है।सीएए दंगे के सामने आने के बाद विभिन्न प्रतिबंधित संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

भारत-नेपाल सीमा से सटे बहराइच में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के दौरान पहली बार पीएफआइ का नाम सामने आया था। लखनऊ के दंगे में बहराइच के भी कुछ लोगों को एटीएस ने पकड़ा था। अब एक बार फिर लखनऊ में पकड़े गए दोनों देश विरोधियों के बहराइच में स्लीपर सेल के काम करने के खुलासे ने सुरक्षा एजेंसियों को चौका दिया है। पकड़े जाने से पहले आतंकियों ने यहां के लोगों से मोबाइल पर संपर्क किया था।

मोबाइल जांच के बाद एटीएस की टीम उन लोगों की तलाश में जुटी हुई है। उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है, जिन्हें सीएए विरोध के दौरान पुलिस ने चिह्नित किया था। पीएफआइ के आठ स्लीपर सेल में से तीन तक पुलिस की मदद से एटीएस पहुंच चुकी है। इन्हें जल्द ही पूछताछ के लिए हिरासत में लेने की तैयारी है।

फेसबुक व ट्वटिर पर नजर: एटीएस की तकनीकी टीम सक्रिय आठ स्लीपर सेल के ट्वटिर व फेसबुक पर नजर रख रही है। पिछले दो माह के दौरान इंटरनेट मीडिया में इन लोगों के मैसेज को खंगाला जा रहा है।

खंगाल रहे बैंक बैलेंस: जिन तीन लोगों की पुख्ता जानकारी हाथ लग गई है। इनके पिछले छह माह में बैंक खातों में जमा व निकासी रकम को भी खंगाला जा रहा है। यहां तक की हवाला के जरिए भी धन आने को लेकर भी एटीएस सतर्क है।

गतिविधियों पर पुलिस की पैनी नजर : पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन कुमार मिश्र के मुताबिक, पीएफआइ को लेकर पुलिस के समन्वय से एटीएस काम कर रही है। सीमावर्ती थाना क्षेत्र के कुछ लोगों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

Next Story
Share it