Top
Janta Ki Awaz

संचारी रोग नियत्रंण अभियान को शत-प्रतिशत बनायें सफल : डीएम

संचारी रोग नियत्रंण अभियान को शत-प्रतिशत बनायें सफल : डीएम
X


चंदौली : जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में 1 से 31 मार्च, 2021 तक चलने वाले विशेष संचारी रोग नियत्रंण तथा दस्तक अभियान की बैठक सम्पन्न हुई।

विशेष संचारी रोग नियत्रंण तथा दस्तक अभियान अंतर्गत क्षय रोगी, बुखार रोगी, कोविड के लक्षणों वाले मरीजों का चिन्हींकरण किया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा इस अभियान अन्तर्गत बुखार के मरीजों, कोविड के लक्षणों वाले मरीज एवं क्षय रोगियों का चिन्हीकरण करने व संबंधित जानकारी एवं व्यवहार परिर्वतन संदेश, गांव के हर घर एवं प्रत्येक परिवार में पहुचाया जायेगा। दस्तक अभियान के तहत आशा व आंगनवाड़ी कार्यकत्री की ओर से घर-घर जाकर दस्तक देकर संचारी रोगों से बचाव के लिए जागरूक किया जायेगा। साथ ही क्षय रोगियों, बुखार रोगी, कोविड के लक्षणों वाले मरीज का चिन्हींकरण किया जायेगा। पीड़ित लोगों को पास के सीएचसी, पीएचसी से उपचार, भर्ती करने के लिए प्रेरित किया जायेगा। अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग की ओर से 1 से 31 मार्च तक प्रतिदिन आशाओं व आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से संचारी रोगों की बचाव के बारे में जानकारी दी जाएगी साथ ही उनकी सर्वे कर सूची बनाएं जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दी। सभी विभाग प्रभारी रुप से इस पर कार्रवाई करेंगे सर्वे का कार्य घर-घर जाकर करना जरुरी है, लक्षण के आधार पर सर्वे सूची तैयार करें, गलत रिपोर्टिंग किसी भी दशा में कतई बर्दाश्त नहीं होगी। मलेरिया विभाग की ओर से लार्वारोधी गतिविधियां चलाई जायेंगी। आवश्यकतानुसार फागिंग करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि नगरीय निकायों द्वारा समस्त वार्डों में प्रतिदिन नाली, नालों की सफाई, कचरा निस्तारण फागिंग आदि कराने के साथ दिनांक 25 फरवरी से शुरू कर एक सप्ताह तक सभी वार्डां में विशेष सफाई अभियान चलाकर पूर्व की भांति सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। वार्डवासियों को संचारी रोग के बचाव के लिए घर व आस-पास सफाई रखने के प्रति जागरूक किया जायेगा। जिला पंचायत विभाग द्वारा एक सप्ताह के अभियान तक ग्रामीण क्षेत्रों में फागिंग, छिड़काव एवं बड़े गांवों में विशेष सफाई अभियान बाजारों, मुख्य मार्गो, गलियों, नालियों आदि की सफाई, झाड़ियों की कटाई का कार्य किया जाय। साथ ही संचारी रोग से बचाव के लिए ग्रामवासियों को जागरूक किया जाय। जगह जगह पड़े छोडो को हटवाने नाली की साफ-सफाई हम दवाओं का छिड़काव कराने के निर्देश दिये। पशु पालन विभाग की ओर से सूकर पालकों का चिन्हींकरण कर आबादी से दूर स्थापित करने के लिए प्रेरित करना और साफ सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ पोल्ट्री व्यवसाय के लोगों को संचारी रोग से बचाव तथा सफाई आदि के बारे में सूचित, संवेदीकृत किया जायेगा। जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि विद्यालयों में हर दिन प्रार्थना सभा में बच्चों को मुख्य दिमागी बुखार संदेश विशेषकर सुरक्षित पीने का पानी, शौचालय का प्रयोग, खुले में शौच के नुकसान आदि हेतु जागरूक करना। बच्चों के साथ सामुदायिक गतिविधियां आयोजित करना प्रभात फेरी, क्लोरिनेशन डेमो पेयजल को उबालना, साबुन से हाथ धोना, शौचालय का प्रयोग इत्यादि के बारे में जागरूक करना।

उन्होंने कहा कि दिव्यांगजन व समाज कल्याण विभाग की ओर से अभियान के तहत दिव्यांग बच्चों को आवश्यक सहायक उपकरण वितरित किये जायेंगे। कृषि विभाग को निर्देश दिये कहा कि जमे हुए पानी में मच्छरों के प्रजनन को रोकने तथा सिंचाई के वैकल्पिक उपायों को धरातल पर लागू करना, मच्छर रोधी पौधों का आमजनों में उगाया जाना। सिंचाई विभाग की ओर से नहरों व तालाबों के किनारों पर उगी घास व झाड़ियो को हटया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्रों के निकट नहरों में जल क्षरण की मरम्मत कराई जायेगी।

जिलाधिकारी ने अभियान में जुड़े समस्त विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के तहत जागरूकता आदि के संबंध में की गयी गतिविधियों की आख्या प्रत्येक दिन मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय उपलब्ध करायेंगे।

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 के सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी जिला विद्यालय निरीक्षक सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

रिपोर्ट : ओ पी श्रीवास्तव

Next Story
Share it