Top
Janta Ki Awaz

स्काउट-गाइड वाणी और व्यवहार में सौम्यता बरतें

स्काउट-गाइड वाणी और व्यवहार में सौम्यता बरतें
X

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी में पांच दिनी शिविर का समापन

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी की एसोसिएट डीन डॉ. मंजुला जैन ने बतौर विशिष्ट अतिथि कहा, जीवन में हमेशा तीन चीजों - तैयारी, आत्मसातीकरण और प्रदर्शन का समन्वित रूप ही हमेशा हमें सफलता प्रदान करता है। छात्रों को राष्ट्र निर्माता बताते हुए कहा ,आप देश की नींव हैं। आप ही भारत के भविष्य का निर्माण करेंगे। वह तीर्थंकर शान्तिनाथ कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन में स्काउट-गाइड के पांच दिवसीय शिविर का समापन समारोह में शिरकत कर रही थीं। इससे पूर्व उन्होंने निदेशक छात्र कल्याण प्रो. एमपी सिंह के संग स्काउट-गाइड की ओर से तैयार कैम्पों को देखा और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लुफ्त भी उठाया। इन अतिथियों ने इन छात्र-छात्राओं से सवाल भी पूछे। प्रो. सिंह ने भावी शिक्षकों को शपथ भी दिलाई, बतौर एक शिक्षक वे कभी भी किसी का धर्म, जाति या लिंग अथवा अन्य कोई भी आधार पर पक्षपात नहीं करेंगे। अपनी वाणी और व्यवहार को सौम्य रखेंगे। इस मौके पर जिला कमिश्नर स्काउट डाॅ. मनोज कुमार की भी गरिमायी मौजूदगी रही।

छात्र कल्याण निदेशक प्रो. सिंह, विशिष्ट अतिथि डाॅ. जैन और जिला कमिश्नर स्काउट आदि ने स्काउट-गाइड की टोलियों का निरीक्षण किया। उन्होंने छात्रों से टोली के निर्माण आवश्यकता और महत्व के अलावा स्काउट-गाइड के नियम, प्रतिज्ञा आदि की जानकारी ली। उन्होंने छात्रों को देश सेवा के लिए तत्पर रहने, विपरीत परिस्थितियों में अपना अभूतपूर्व योगदान देने के लिए प्रेरित किया। स्काउट-गाइड की ओर से विभिन्न प्रकार के टैंट बनाए गए। मयूर टोली, कमल टोली, टाइगर टोली, भगत सिंह टोली, अब्दुल कलाम टोली, लिलि टोली, रोज टोली आदि प्रमुख रहीं। शिविर जिला संगठन आयुक्त (स्काउट) श्री गौरव सक्सेना, जिला संगठन आयुक्त (गाइड) विमला कश्यप की देखरेख में संचालित हुआ। स्काउट कमिश्नर मनोज कुमार ने कहा, स्काउट हममें सहयोग की भावना, आपसी भाईचारा और समूह में कार्य करना सिखाता है। छात्र-छात्राओं को अच्छा इंसान बनने के लिए प्रेरित किया । अंत में प्राचार्य डॉ. अशोक लखेड़ा ने सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर कुंथुनाथ कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन के प्राचार्य डॉ. विनोद जैन के अलावा श्रीमती सुमन गुप्ता, श्रीमती शिवाली सक्सेना डॉ. रवि प्रकाश सिंह डॉ. शैफाली जैन, श्रीमती पूनम चैहान, डॉ. रामनाथ केसरवानी, श्री बन्टी सैनी, श्री महेश कुमार आदि मौजूद रहे। संचालन शिखा सिंह और श्वेता सिंह ने किया।




Next Story
Share it