Top
Janta Ki Awaz

चोलापुर का लाल दिवाकर सिंह यादव बना भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट, देश सेवा में आई दूसरी पीढ़ी।

चोलापुर का लाल दिवाकर सिंह यादव बना भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट, देश सेवा में आई दूसरी पीढ़ी।
X

वाराणसी/चोलापुर

रिपोर्टर:-महेश पाण्डेय

वाराणसी जनपद के चोलापुर ब्लाक के धरमपुर बेला गांव निवासी राम बुझारत यादव सेना में सूबेदार के पद पर बरेली में तैनात है राम बुझारत यादव(सूबेदार) के पुत्र दिवाकर सिंह यादव का आज भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर चयन हुआ है भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर चयन की जानकारी मिलने के बाद परिवार समेत क्षेत्र में खुशी का माहौल है। अपने बेटे दिवाकर सिंह यादव के चयन के बाद अपने पुत्र के बारे में जानकारी देते हुए पिता राम बुझारत यादव(सूबेदार) ने बताया कि साथ रहकर देश सेवा देखकर देश सेवा के लिए कुछ करने गुजरने की ठानी देश सेवा के लिए दिवाकर को भारतीय सेना में भर्ती होना ही सबसे अच्छा रास्ता लगा जिस पर उसने बड़े होकर सेना में जाने का सपना दिखाई सपने को पूरा करने के लिए दिवाकर पूरी शिद्दत के साथ जुड़ गया कड़ी मेहनत का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए पूरी तरह से दृढ़ संकल्पित कर दिवाकर का अब भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर चयन हुआ है वाराणसी जिले के चोलापुर ब्लाक के ग्राम धरमपुर(बेला) गाँव निवासी दिवाकर सिंह यादव अपने परिवार के सेना में दूसरी पीढ़ी है जिसका चयन देश की रक्षा के लिए हुआ है लेफ्टिनेंट दिवाकर के दादा स्वर्गीय रईस यादव का हमेशा से इच्छा थी की दिवाकर भारतीय सेना में अफसर के पद पर बने सपना साकार हो गया पहले प्रयास में ही इस एसएसबी (सर्विस सेलेक्शन बोर्ड) इंटरव्यू उत्तीर्ण की।

पिता ने बताया कि दिवाकर के प्रारंभिक शिक्षा सरला लर्नर्स एकेडमी बाबतपुर नियारडीह, और एल एच के महावीर पर हुआ था इसके बाद आगे की शिक्षा इनके पिता राम बुझारत यादव(सूबेदार) की देखरेख में मथुरा तथा बेंगलुरु में आर्मी पब्लिक स्कूल तथा बैंगलोर विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल किया। इनके पिता सूबेदार राम बुझारत यादव की अभी बरेली में पोस्टिंग है 29 साल से मैं देश की सेवा में कार्यरत लेफ्टिनेंट दिवाकर की मां नगीना देवी सीधी-साधी उच्च विचार की सकारात्मक सोच की गृहणी है

लेफ्टिनेंट दिवाकर की छोटी बहन शालिनी यादव भी स्नातक पूरा करके सेना में अधिकारी बनने की तैयारी कर रही है।

चाचा चाची का रहा अहम योगदान

बातचीत के दौरान सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर चयन होने के बाद दिवाकर सिंह यादव ने बताया कि इस मुकाम को हासिल करने के लिए माता-पिता के अलावा बड़े पापा हवलदार उर्फ दीना यादव, बड़ी मम्मी उषा देवी, चाचा ऋषि नारायण यादव, चाची सरोज यादव, छोटे चाचा सेना में हवलदार तहसीलदार यादव, चाची सरकारी अध्यापिका नीतू देवी व चचेरे बड़े भाई दीपक यादव (उत्तर प्रदेश पुलिस) चचेरे छोटे भाई चिराग यादव (भारतीय वायु सेना) तथा नाना चौहरजा यादव, मामा इंद्रेश यादव, गोविंद यादव का हमेशा आशीर्वाद तथा योगदान मिलता रहा।

Next Story
Share it