Top
Janta Ki Awaz

सूर्यषष्ठी (छठ महापर्व) की पूर्णाहूति हेतु गायत्री यज्ञ का आयोजन।

सूर्यषष्ठी (छठ महापर्व) की पूर्णाहूति हेतु गायत्री यज्ञ का आयोजन।
X

वाराणसी

रिपोर्टर:-महेश पाण्डेय

आज दिन शनिवार को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु दिये गये दिशानिर्देश के अनुक्रम में सूर्यषष्ठी महापर्व का आयोजन महिला मण्डल कोनिया, वाराणसी की संचालिका श्रीमती पुष्पा रानी के आवास के छत पर सूर्यषष्ठी महापर्व का आयोजन किया गया। महिला मण्डल कोनिया, वाराणसी की संचालिका श्रीमती पुष्पा रानी के संयोजन में महिला मण्डल की गायत्री साधको ने उदयमान होते सूर्य को अर्घ्य पूरी निष्ठाएवं भक्ति भावना से समर्पित किया। तदोपरान्त गायत्री यज्ञ में आहूतियां अग्निहोत कर भगवान भास्कर से कोरोना वायरस के समूल नाश एवं सभी के उज्जवल भविष्य, दिर्घायु जीवन, अमन शांति तथा निरोग काया हेतु प्रार्थना किया गया। तदोपरान्त सूर्य षष्ठी महापर्व की पूर्णाहूति कर व्रत का पारण किया। बाल संस्कारशाला संचालिका ने बताया कि सूर्यषष्ठी महापर्व प्रकृति की पूजा का महापर्व है। इस पर्व की यह विशेषता है कि इसमें प्रकृति द्वारा प्रदत्त गन्ना, नारियल, चना, सिंघाड़ा, नये चावल से बना हुआ व्यंजन एवं गेहूँ के आटे का ठेकुआ भगवान भाष्कर को अर्पित किया जाता है। यह पर्व हम सभी को प्रकृति से जोड़ने का महापर्व है, आगे बताया कि जैसे-जैसे हम पाश्चात्य संस्कृति को अपनाते जा रहे है वैसे-वैसे हम प्रकृति से दूर होते जा रहे है, इसी कारण हम विभिन्न प्रकार की बिमारियों के आगोश में आते जा रहे है। बिना प्रकृति से जुड़े हम दिर्घायु की कामना कर ही नही सकते।

सूर्य अर्घ्यदान करने वालो में मुख्य रूप से श्रीमती चंचल कुशवाहा, सुषमा मिश्रा, मीरा मौर्या, श्वेता मिश्रा, सपना कुशवाहा, सरिता श्रीवास्तव, सुनिता वर्मा, पूजा मौर्या एवं कुमारी शाम्भवी सहाय ने भाग लिया।

Next Story
Share it