Top
Janta Ki Awaz

'सपा यादव के साथ तो मैं क्षत्रिय के साथ' : सुरेंद्र सिंह

सपा यादव के साथ तो मैं क्षत्रिय के साथ : सुरेंद्र सिंह
X

बलिया, । अपने विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले बैरिया से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह हत्‍याराेपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के परिजनों के साथ खुलकर सामने आए। उनपर हत्‍यारोपित के करीबी संबंध होने का आरोप भी है। बलिया में गोलीकांड के बाद से ही हत्‍यारोपित के पक्ष में आए विधायक सुरेंद्र सिंह प्रदेश सरकार के लिए कई बार अपने बयानों से मुसीबत खड़ी कर चुके हैं। इस बार हत्‍यारोपित के साथ खुलकर आने के बाद जहां विरोधियों के निश्‍ााने पर सत्‍ता पक्ष आ गया वहीं सरकार को भी इस प्रकरण में अहसज कराने के बाद उनको लखनऊ तलब कर लिया गया है। जबकि दबी जुबान में बलिया के स्‍थानीय भाजपा कार्यकर्ता और पदाधिकारी भी विधायक के आरोपित पक्ष का साथ देने को लेकर आलोचना करते रहे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सुरेंद्र सिंह के हत्‍यारोपी के पक्ष में आने के बाद रविवार को विधायक सुरेन्द्र सिंह को लखनऊ तलब कर लिया। सुबह जानकारी मिलने के बाद सुरेंद्र सिंह लखनऊ रवाना हो गए। इस दौरान उन्‍होंने जागरण को बातचीत में बताया कि 'प्रदेश अध्यक्ष के बुलावे पर लखनऊ जा रहा हूं। मैं पुलिस की एक पक्षीय कार्रवाई के विरोध में हूं। धीरेंद्र प्रताप सिंह ने आत्मरक्षार्थ व परिवार की सुरक्षा में गोली चलाई। मैं हमेशा न्याय के पक्ष में हूं। मुझे प्रदेश अध्यक्ष ने क्यों बुलाया है, यह मुझे नहीं पता है। जहां तक जातीय बयान का सवाल है तो समाजवादी पार्टी अगर यादव के साथ है तो मैं क्षत्रिय के साथ खड़ा रहूंगा।'

रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान आवंटन को लेकर हुए गोलीकांड के बाद से ही बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह लगातार विवादित बयान देकर अपनी ही पार्टी को असहज कई मौकों पर कर चुके हैं। इस गोलीकांड में जय प्रकाश पाल की मौत हो गई थी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वत्रंत देव सिंह का निर्देश मिलते ही विधायक सुरेंद्र सिंह रविवार की सुबह लखनऊ रवाना हो गए। विधायक ने गोलीकांड के मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह का पक्ष लेने के साथ ही जाति विशेष को लेकर विवादित बयान दिया था। पार्टी सूत्रों के अनुसार इससे भाजपा की छवि पर जिले ही नहीं बलिक प्रदेश स्‍तर पर बुरा असर पड़ रहा था। वहीं हत्‍याकांड वाले दिन से ही सोशल मीडिया पर आरोपित से करीबी संबंध को लेकर तस्‍वीरें खूब वायरल हो रही हैं।

शनिवार को विधायक हत्‍यारोपी के परिजनों के साथ मृतक के पक्ष वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने पहुंचे थे। इस दौरान जहां हत्‍यारोपित के पक्ष में उन्‍होंने बयान दिया तो वहीं पुलिस और प्रशासन को भी हत्‍यारोपित के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर कोसते रहे। हालांकि, पुलिस ने मुकदमा लिखने के लिए मना करने के साथ ही हत्‍यारोपित के परिजनों को मेडिकल कराने की सलाह दी तो विधायक अपने लाव लश्‍कर के साथ अस्‍पताल भी पहुंच गए और मीडिया के सामने हत्‍यारोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह के समर्थन में रोने भी लगे।

Next Story
Share it