Top
Breaking News

स्वयं सहायता समूह की महिलाओ द्वारा बनायी गयी राखियां सोमवार को रक्षाबंधन पर भाईयों की कलाइयों पर खूब जमेगी

स्वयं सहायता समूह की महिलाओ द्वारा बनायी गयी राखियां सोमवार को रक्षाबंधन पर भाईयों की कलाइयों पर खूब जमेगी

वाराणसी

दीनदयाल अंत्योदय योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना की स्वयं सहायता समूह की महिलाओ द्वारा बनायी गयी राखियां सोमवार को रक्षाबंधन पर भाईयों की कलाइयों पर खूब जमेगी

दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना अंतर्गत विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी स्वयं सहायता समूह की महिलायें रक्षाबंधन पर्व के दृष्टिगत राखी बनाने हेतु आगे आयी हैं और जनपद के विभिन्न विकास खंडों में राखी बनाने का कार्य कर रही हैं।

विकास खण्ड आराजीलाइन के ग्राम शहंशाहपुर व मिर्जामुराद में 10 महिलायें, हरपुर में 3 महिला, विकास खण्ड काशीविद्यापीठ के ग्राम सुजाबाद व करौंदी में स्वयं सहायता समूह की 10-10 महिलाएं, विकास खंड पिण्डरा में पहलवान बाबा महिला ग्राम संगठन के अंतर्गत 12 महिलाएं आदि राखी बनाने का कार्य कर रही हैं। यह महिलाएं कच्चा माल स्थानीय स्तर पर तथा वाराणसी से लाकर अपने गांव में राखी बनाने का कार्य कर रही हैं। इनके द्वारा बनायी गयी राखियां रुपया 10, 15 , 20 व 30 की हैं, जो वर्तमान समय के अपेक्षा काफी सस्ती हैं तथा ग्रामीण क्षेत्रों में इनकी खूब मांग हो रही है। समूह की महिलाएं अपने द्वारा बनायी गयी राखियां अपने ग्राम संगठन समूह व संकुल स्तर पर तथा दीदी समूह से ऋण लेकर परचून या जनरल स्टोर की दुकान खोली है या जिस दीदी के पास अपनी स्वयं की दुकान है, वहीं पर राखी बेचने हेतु जगह भी तलाशी ली हैं। लॉकडाउन व चाइना से आने वाली राखियों का लोगों के विरोध को देखते हुए समूह की महिलाओं हेतु राखी बनाने का कार्य उनकी आमदनी में अच्छी खासी वृद्धि करने हेतु एक अच्छा अवसर है।

रिपोर्टर:-महेश पाण्डेय वाराणसी

Share it