Top
Breaking News

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में मृत महिला को एंबुलेंस नहीं, शव स्ट्रेचर से घर ले गए. जिलाधिकारी ने नोटिस किया जारी


वाराणसी

मंडलीय अस्पताल के अपर निदेशक डॉ प्रसन्ना कुमार प्रमुख अधीक्षक शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय कबीर चौरा वाराणसी को कारण बताओ नोटिस जारी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के द्वारा कार्य में लापरवाही बरतने पर डॉ. प्रसन्न कुमार मंडलीय अपर निदेशक/ प्रमुख अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुये दो दिन के अंदर नोटिस का जबाव देने के लिए निर्देशित किया गया है।

क्या है मामला

जानकारी के अनुसार, उक्त अस्पताल में कल देर रात एक महिला के मौत के बाद घर जाने के लिए परिजनों ने पहले एंबुलेंस को फोन किया, लेकिन जब एंबुलेंस नहीं मिली तो मजबूरी में स्ट्रेचर पर ही महिला को लेकर घर के लिए निकल पड़े। सड़क पर स्ट्रेचर से एक महिला के शव को ले जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ तथा इससे वाराणसी जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की छवि धूमिल हुई। इस तरह से चिकित्सकीय कार्यों में घोर लापरवाही बरती गई है।

जिलाधिकारी ने लिया मामले का संज्ञान

उक्त वायरल वीडियो के आरोप को गंभीरता पूर्वक लेते हुये जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा कि कोरोना महामारी संकट के दौरान मरीजों का बेहतर ख्याल रखे जाने समय से उपचार एंबुलेंस आदि उपलब्ध कराए जाने हेतु शासन द्वारा समुचित निर्देश समय- समय निर्गत किए गए हैं। इसके उपरांत भी उक्त घटना श्री शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय के चिकित्सकों/ स्टाफ की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगाता है व मंडलीय अपर निदेशक/ प्रमुख अधीक्षक के पर्यवेक्षण में लापरवाही एवं शिथिलता को प्रदर्शित करता है। इससे यह साबित होता है कि शासकीय कार्यों में लापरवाही व उदासीनता बरती जा रही है एवं अपने कर्तव्य का निर्वहन समुचित रुप से नहीं किया जा रहा है। दायित्वों के सम्पादन में गंभीर लापरवाही व उदासीनता बरती गई है। यह कृत्य चिकित्सक कार्यों में अपेक्षित सजगता व संवेदनशीलता के विपरीत है। संबंधित तथ्यों को को संज्ञान में लेते हुए जारी नोटिस जिलाधिकारी के माध्यम से हुई व निर्धारित समयावधि में जबाव स्पष्टीकरण प्राप्त न होने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही की बात भी कही गई।

रिपोर्ट:- राजकुमार गुप्ता वाराणसी

Share it