Top
Janta Ki Awaz

ऑक्सीजन की कमी: गंगाराम में 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत, डॉक्टर बोले- खतरे में 60 की जान

ऑक्सीजन की कमी: गंगाराम में 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत, डॉक्टर बोले- खतरे में 60 की जान
X

देशभर में कोरोना से स्थिति भयावह होती जा रही है। ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा है। मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिल रही है, जिससे उनकी जान जा रही है। ऑक्सीजन का संकट सबसे ज्यादा देश की राजधानी दिल्ली में है। दिल्ली के बड़े अस्पताल में ऑक्सीजन नहीं होने से मरीजों को काफी परेशानी हो रही है।

दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने कहा कि ऑक्सीजन के लो प्रेशर की वजह से अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत हो गई है। कई मरीजों को हाई प्रेशर की जरूरत थी लेकिन ऑक्सीजन प्रेशर कम होने से कुछ की मौत हुई तो कुछ की बेड न मिलने से।

उन्होंने बताया कि गंभीर रूप से बीमार अन्य 60 मरीजों की जान भी खतरे में हैं और गंभीर संकट की आशंका है। ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है। चिकित्सा निदेशक ने बताया कि अस्पताल के आईसीयू और आपात-चिकित्सा विभाग में गैर-मशीनी तरीके से वेंटिलेशन बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है।

फोर्टिस फरीदाबाद में केवल एक घंटे का ऑक्सीजन स्टॉक शेष

फरीदाबाद स्थित फोर्टिस अस्पताल में सिर्फ एक घंटे का ऑक्सीजन बचा है। अस्पताल प्रबंधन से बात करने पर पता चला कि रेवाड़ी से ऑक्सीजन सप्लाई सुनिश्चित की जा रही थी, किन्हीं कारणों से कल से अब तक ऑक्सीजन आपूर्ति बाधित है। देर रात से आईसीयू और ऑक्सीजन सपोर्ट पर भर्ती मरीजों को लेकर अस्पताल प्रबंधन चिंता में है। जिले में ऑक्सीजन सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी करण गोदारा का कहना है कि सप्लाई सुनिश्चित की जा रही है स्वास्थ्य विभाग सेवाएं बाधित नहीं होने देगा।

मैक्स स्मार्ट अस्पताल और मैक्स अस्पताल साकेत में एक घंटे से भी कम ऑक्सीजन की आपूर्ति

वहीं मैक्स स्मार्ट अस्पताल और मैक्स अस्पताल साकेत में एक घंटे से भी कम ऑक्सीजन की आपूर्ति होगी। रात 1 बजे से INOX से ताजा आपूर्ति का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि जानकारी मिली है कि मैक्स अस्पताल में अगले 3 से 5 घंटे के लिए ऑक्सीजन पहुंच गई है। मैक्स हेल्थकेयर ने कहा है कि 700 से अधिक रोगियों को भर्ती कराया गया।

Next Story
Share it