Top
Janta Ki Awaz

सोशल मीडिया पर पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत की चर्चा, तिहाड़ जेल ने खबरों का किया खंडन

सोशल मीडिया पर पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत की चर्चा, तिहाड़ जेल ने खबरों का किया खंडन
X

देश में कोरोना का खौफ लगातार बढ़ता जा रहा है। यह जानलेवा वायरस प्रतिदिन हजारों की जिंदगियां निगल जा रहा है। इस बीच, शनिवार सुबह राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता और बिहार की सिवान लोकसभा सीट से पूर्व सांसद सैयद शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत की खबरें चलने लगीं। बाद में कोरोना वायरस से संक्रमण के कारण शहाबुद्दीन के निधन की खबर का तिहाड़ जेल प्रशासन ने खंडन किया है। जेल प्रशासन की ओर से यह भी कहा गया है कि शहाबुद्दीन की तबीयत खराब है। बता दें कि हत्या के मामले में सजायाफ्ता बिहार का बाहुबली शहाबुद्दीन दिल्ली की तिहाड़ जेल में ही बंद है।

तिहाड़ जेल प्रशासन ने कहा कि सोशल मीडिया पर चल रहीं शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत की खबरें कोरी अफवाह हैं। जेल प्रशासन के मुताबिक, शहाबुद्दीन की हालत गंभीर है, लेकिन अभी उपचार चल रहा है। पूर्व सांसद का दिल्ली के ही दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में उपचार चल रहा है। कोरोना संक्रमित शहाबुद्दीन के स्वास्थ्य पर डॉक्टर नजर रख रहे हैं।

बता दें कि सिवान लोकसभा सीट से सांसद रह चुके बाहुबली शहाबुद्दीन की गिनती आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के करीबी नेताओं में होती थी। शहाबुद्दीन को हत्या के एक मामले में अदालत ने दोषी करार दिया था। सजायाफ्ता शहाबुद्दीन दिल्ली की तिहाड़ जेल में सजा काट रहा है। आज सुबह से ही सोशल मीडिया पर शहाबुद्दीन के निधन की खबरें चल रही थीं, जिनको जेल प्रशासन ने गलत करार दिया।

बता दें कि तिहाड़ जेल में भी कोरोना वायरस पांव पसार रहा है। कई कैदी अब तक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। तिहाड़ जेल में बंद कैदियों को भी कोरोना की वैक्सीन लगाए जाने की कवायद जेल प्रशासन ने शुरू कर दी है।

तिहाड़ जेल में शहाबुद्दीन को एकदम अलग बैरक में रखा गया था। उस बैरक में शहाबुद्दीन के अलावा कोई दूसरा कैदी नहीं है। तिहाड़ में तीन ऐसे कैदी (शहाबुद्दीन, छोटा राजन और नीरज बवाना) हैं, जिनको अलग-अलग बैरकों में अकेला रखा गया है। इनका किसी से भी मिलना-जुलना नहीं होता है। पिछले 20-25 दिनों से इनके परिजनों को भी इन कैदियों से मिलने नहीं दिया जा रहा है।

Next Story
Share it