गुजरात में बीजेपी ने किया क्लीन स्वीप, कांग्रेस को एक भी सीट नहीं हुई नसीब

गुजरात में बीजेपी ने किया क्लीन स्वीप, कांग्रेस को एक भी सीट नहीं हुई नसीब

विजय तिवारी की रिपोर्ट

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे इस बार भी भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में रहे। गुजरात में एक बार फिर से लोकसभा चुनाव का जनादेश बीजेपी के पक्ष में रहा। गुजरात की कुल 26 सीटों पर क्लीन स्वीप कर लिया है. कांग्रेस को यहां एक भी सीट नसीब नहीं हो सकी. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह गुजरात में गांधीनगर लोकसभा सीट पर साढे पांच लाख वोट से आगे चल रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गुरुवार को गुजरात की सभी 26 सीटों पर एक बार फिर जीत दर्ज करने की ओर बढ़ रही है, वहीं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 10 चरणों की मतगणना के बाद 2.38 लाख मतों से आगे चल रहे हैं. शाह गांधीनगर संसदीय सीट से पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। उन्हें अभी तक 3,52,099 वोट मिले हैं, जबकि कांग्रेस के उनके निकततम प्रतिद्वंदी सी.जी. चावड़ा को 1,13,436 वोट मिले हैं.

वहीं राज्य में 15 भाजपा प्रत्याशी अपने निकटतम प्रतिद्वंदियों से करीब एक लाख मतों से आगे चल रहे हैं। वड़ोदरा से महिला उम्मीदवार रंजन भट्ट कांग्रेस के प्रशांत पटेल से 2 लाख मतों से आगे चल रही हैं. कांग्रेस के लिए कुछ राहत की बात सौराष्ट्र क्षेत्र के अमरेली लोकसभा सीट में हैं, जहां विपक्षी नेता परेश धनानी भाजपा के नारन कछादिया से काफी कम वोटों से पीछे चल रहे हैं.






Gujarat Election Result 2019:

- गुजरात में कुल 26 सीटों पर बीजेपी ने क्लीन स्वीप कर लिया. कांग्रेस को यहां एक भी सीट नहीं हो सकती नसीब।

- गुजरात में कुल 26 सीटों में 25 सीटों पर बीजेपी और कांग्रेस सिर्फ 1 सीटों पर चल रही है आगे

- गांधीनगर में बीजेपी उम्मीदवार अमित शाह 2,23,000 मतों से आगे चल रहे हैं.

- गुजरात में साबरकांठा से इकलौते कांग्रेस उम्मीदवार ठाकोर शिवसिंह आगे चल रहे हैं. बाकी 25 सीटों पर बीजेपी ने बढ़त बनाई हुई है.

- गुजरात की कुल 26 सीटों में से 24 में बीजेपी आगे, दो पर सिमटी कांग्रेस.

- सुरेंद्रनगर से कांग्रेस उम्मीदवार कोली पटेल ने बीजेपी उम्मीदवार मुंजापारा को किया पीछे और अमरेली से कांग्रेस उम्मीदवार परेश धनानी आगे चल रहे है.

- पाटन से कांग्रेस उम्मीदवार जगदीश ठाकोर और आणंद से कांग्रेस प्रत्याशी भरतभाई एम सोलांकी आगे चल रहे हैं.

- शुरुआती रुझानों में कच्छ, जामनगर, पोरबंदर, जूनागढ़, भावनगर, राजकोट, सुरेंद्रनगर, खेड़ा, गांधीनगर, मेहसाणा, साबरकांठा, पंचमहल, अहमदाबाद पूर्व, वडोदरा, दाहोद, भरूच, बारडोली, सूरत, वलसाड, नवसारी में बीजेपी आगे चल रही है.

- जामनगर में बीजेपी उम्मीदवार पूनमबेन हेमतभाई मादम आगे चल रही हैं.

- सुरेंद्र नगर में बीजेपी उम्मीदवार डॉ. मुंजापारा महेंद्रभाई आगे चल रहे हैं.

- शुरुआती रुझानों में बीजेपी 3 और कांग्रेस 2 सीटों पर आगे चल रही है.

- गुजरात समेत देशभर के सभी राज्यों में वोटों की गिनती शुरू हुई.

- बीजेपी जीत के प्रति आश्वस्त: दिल्ली बीजेपी ने 20 हजार कार्यकर्ताओं को पार्टी मुख्यालय पहुंचने का निर्देश दिया.

शाम को कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगवानी के लिए पहुंचेंगे.

- गुजरात लोकसभा चुनाव की मतगणना गुरुवार को सुबह 8 बजे से शुरू हो जाएगी.

- राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एस. मुरली कृष्णनन के मुताबिक, "बृहस्पतिवार को 28 केंद्रों पर मतगणना होगी. सभी मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं."

- मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने भरोसा जताया कि राज्य में भाजपा सभी 26 सीटों को बरकरार रखेगी. रूपाणी ने गांधीनगर में कहा, "मोदी लहर है और राज्य के लोग मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनाने के लिए उत्साहित हैं. नतीजे निश्चित हैं."

- गुजरात कांग्रेस प्रमुख अमित चावड़ा ने हालांकि दावा किया कि उनकी पार्टी राज्य में कम से कम 10 सीटों पर चुनाव जीतेगी. उन्होंने कहा, "गुजरात के नतीजे सभी को चौंका देंगे."

- 2017 में राज्य विधानसभा की 182 सीटों में से कांग्रेस ने 77 सीटें जीती थीं जबकि भाजपा 99 सीटें जीत कर बेहद कम बहुमत के साथ सत्ता में आई थी. कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में भी यही प्रदर्शन दोहराने की उम्मीद है.

- राज्य से भाजपा के प्रमुख उम्मीदवारों में पार्टी प्रमुख अमित शाह गांधीनगर लोकसभा सीट से और केंद्रीय मंत्री जसवंतसिंह भाभोर दाहोद से चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री भरतसिंह सोलंकी को आणंद से और विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी को अमरेली सीट से चुनाव मैदान में उतारा है.

- गुजरात में 23 अप्रैल को तीसरे चरण में मतदान संपन्‍न हुआ था. गुजरात के शहरी मतदाताओं के लिए रोजगार सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा है. इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था, फसलों की उचित कीमत और सार्वजनिक परिवहन जैसी सुविधाएं भी चुनावी मुद्दों में शामिल हैं. इसके अलावा गुजरात में अलग-अलग समुदायों द्वारा आरक्षण की मांग अपने आप में बड़ा मुद्दा है.

Share it
Top