Top
Breaking News

पाकिस्तानी हिन्दुओं के साथ भेदभाव, नहीं दिया जा रहा है राशन,सिर्फ मुस्लिमों को दिया जा रहा राशन

पाकिस्तानी हिन्दुओं के साथ भेदभाव, नहीं दिया जा रहा है राशन,सिर्फ मुस्लिमों को दिया जा रहा राशन

इस्‍लामाबाद : पूरी दुनिया की तरह पाकिस्तान भी कोरोना वायरस की चपेट में है। प्रत्येक देश अपने नागरिकों को बिना भेदभाव किए जरूरी चीजें मुहैया करा रहा है। लेकिन पाकिस्तान धर्म के आधार पर अपनी जनता से भेदभाव कर रहा है। खबर है कि इमरान खान सरकार हिंदुओं को राशन नहीं दे रही है। जबकि मुसलमानों को राशन और जरूरी सामान दिया जा रहा है। ऐसा सिंध प्रांत के कराची शहर में हो रहा है।

कराची का प्रशासन कह रहा है कि राशन केवल मुसलमानों के लिए आया है। ना कि हिंदुओं के लिए। यह हाल ना सिर्फ कराची का है बल्कि पूरे सिंध में राशन देने से इनकार किया जा रहा है। प्रशासन के इस व्यवहार से हिंदुओं में काफी गुस्‍सा है। मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के मुताबिक सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ाते हुए प्रशासन हिंदुओं से कह रहा है उनके लिए राशन नहीं है। यहां स्क्रिनिंग के लिए भी कोई इंतजाम नहीं किया गया है। हजारों लोग एक जगह इकट्ठा भी हो रहे हैं। सिंध सरकार ने आदेश दिया है कि लॉकडाउन के दौरान दिहाड़ी कामगारों और मजदूरों को स्‍थानीय एनजीओ और प्रशासन की ओर से राशन दिया जाए।

लगातार बढ़ रहे हैं मामले

पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की तादाद बढ़कर 1593 हो गई। 16 लोगों को मौत हो गई है। पाकिस्तान में रविवार को खैबर पख्तूनख्वा में कोरोना वायरस के चार, बलूचिस्तान में तीन और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चार मामलों की पुष्टि हुई। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मुल्क में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित पंजाब है, जहां 571 मामले सामने आ चुके हैं। इसके बाद सिंध में 502, खैबर पख्तूनख्वा में 1192, बलूचिस्तान में 141, गिलगित-बल्तिस्तान में 116, इस्लामाबाद में 43 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में छह लोग इस घातक विषाणु की चपेट में आए हैं। देश में अबतक कोरोना वायरस के संक्रमण से 14 लोगों की मौत हो चुकी है, 11 की हालत नाजुक है और 28 मरीज ठीक हो चुके हैं।

Share it