पाक में सिख लड़की के धर्म परिवर्तन मामले में नया मोड़ परिजन बोले- घर नहीं आई हमारी बेटी

पाक में सिख लड़की के धर्म परिवर्तन मामले में नया मोड़ परिजन बोले- घर नहीं आई हमारी बेटी

इस्‍लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान में सिख लड़की का अपहरण करके जबरन धर्म परिवर्तन कराने के मामले में आठ पाकिस्‍तानियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, मामले में उस वक्‍त नया मोड़ आ गया जब पीड़िता के भाई ने दावा किया कि उसकी बहन अभी तक घर नहीं पहुंची है। यही नहीं इस केस में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। उसने कहा कि मैं प्रधानमंत्री इमरान खान, सेना प्रमुख और पंजाब प्रांत के राज्‍यपाल से आग्रह करता हूं कि वे हमें न्‍याय सुनिश्चित करें।


इससे पहले ऐसी खबर आई थी कि पाकिस्तान में सिख लड़की का अपहरण करके जबरन धर्म परिवर्तन कराने के मामले में आठ पाकिस्‍तानियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। यही नहीं यह भी रिपोर्ट थी कि ननकाना साहिब पुलिस (Punjab's Nankana Sahib police) ने पीड़ित सिख लड़की को उसके परिवार वालों को सुपुर्द कर दिया है। कल पीड़‍ित सिख लड़की के परिजनों ने पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से मदद की गुहार लगाई थी।

बता दें कि पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब के नजदीक एक सिख ग्रंथी की बेटी को अगवा करके जबरन इस्लाम कुबूल कराया गया था। इस घटना के मीडिया में आने के 24 घंटे बाद पाकिस्तान सरकार होश में आई थी। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री सरदार उस्मान बुजदार ने इस मामले में जांच के आदेश दिए थे। इस घटना के बाद भारत में सिख समुदाय आक्रोशित हो गया था। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) ने इस घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था।

सूत्रों ने बताया कि जिस मोहम्मद हसन से पीडि़त सिख लड़की का निकाह कराया गया था वह मुंबई हमलों के गुनहगार हाफिज सईद के संगठन जमात उद-दावा का सदस्य है। लड़की के पिता ननकाना साहिब के गुरुद्वारा तंबू साहिब में मुख्य ग्रंथी हैं। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा था कि 27 अगस्त की रात हथियारबंद ने घर में घुसकर 19 साल की उनकी बेटी जगजीत कौर को अगवा कर लिया था।

शिरोमणि अकाली दल (SAD) के विधायक मनजिंदर एस. सिरसा ने गुरुवार को एक वीडिया शेयर किया था जिसमें पीडि़ता के परिजनों ने आरोप लगाया था कि लड़की को धमकी देकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। परिवार ने बताया कि लड़की को धमकी दी गई थी यदि उसने ऐसा नहीं किया तो उसके पिता और भाई को गाली मार दी जाएगी। इसी बीच केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा था कि इमरान खान के दोस्त जो पंजाब में अन्य दलों में हैं, उन्हें इस तरह की चीजों को खत्म करने के लिए कहना चाहिए।

Share it
Top