Breaking News

श्रीलंका - फेसबुक पोस्ट से बवाल, मस्जिदों पर हमले, लगाया कर्फ्यू

श्रीलंका - फेसबुक पोस्ट से बवाल, मस्जिदों पर हमले, लगाया कर्फ्यू

श्रीलंका में पिछले महीने ईस्टर पर चर्च और पांच सितारा होटलों को निशाना बनाकर किए गए आतंकी हमलों के बाद से स्थिति सामान्य नहीं हुई है। रविवार को श्रीलंका के पश्चिमी तटीय शहर चिला में एक फेसबुक पोस्ट को लेकर तनाव बढ़ गया। पोस्ट पर मचे बवाल के बाद शहर में कई मस्जिदों और मुस्लिम समुदाय की दुकानों पर पथराव किया गया। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने इलाके में कर्फ्यू लगा दिया है।

पुलिस प्रवक्ता रूआन गुनासेकरा ने बताया कि अब हालात काबू में है। एहतियात के तौर पर चिला इलाके में सोमवार सुबह 4 बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है। पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया पर फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट शेयर किया जा रहा है। जिसमें एक फेसबुक यूजर ने लिखा, 'हमें रुलाना काफी मुश्किल है।' यह पोस्ट स्थानीय भाषा में लिखी गई थी। इसके बाद मुस्लिम नाम वाले एक यूजर ने जवाब में लिखा, 'ज्यादा हंसो मत, एक दिन तुम रोने वाले हो।' प्रशासन का कहना है कि उसने फेसबुक यूजर को गिरफ्तार कर लिया है, जिसकी पहचान 38 साल के अब्दुल हमीद मोहम्मद हसमार के रूप में हुई है, जो चिला के उस इलाके में रहता है, जहां ईसाई समुदाय के लोगों की संख्या ज्यादा है। नाराज भीड़ ने आरोपी की जमकर पिटाई की।

एक स्थानीय मुस्लिम युवक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि फेसबुक पोस्ट को लेकर कुछ लोगों ने कई मस्जिदों और दुकान पर पथराव किया। अब स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन हमें रात का डर है। युवक के मुताबिक, एक मस्जिद में काफी तोड़फोड़ हुई है। एक विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग मुस्लिमों की दुकानों पर पथराव कर रहे हैं।

खुले चर्च, लोगों ने की सामूहिक प्रार्थना

ईस्टर पर हुए सिलसिलेवार धमाकों के बाद रविवार को कैथोलिक गिरजाघरों में पहली बार सामूहिक प्रार्थना सभा आयोजित की गई। इस दौरान गिरजाघरों के आसपास भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए थे। इतना ही नहीं, गिरजाघरों में जाने वाले हर व्यक्ति का पहचान पत्र देखा जा रहा था और उनकी तलाशी भी ली जा रही थी। 21 अप्रैल को तीन चर्चों और तीन होटलों पर हुए हमलों में 11 भारतीयों समेत 253 लोगों की मौत हुई थी। 500 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। इन हमलों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ली थी।

Share it
Top