Top

पूरे भारत के कुल 101 स्वैच्छिक रक्तदानी संगठनों को सम्मानित किया गया।

पूरे भारत के कुल 101 स्वैच्छिक रक्तदानी संगठनों को सम्मानित किया गया।

साधना फाउंडेशन द्वारा दो दिवसीय काशी विश्वनाथ ब्लड कमांडो राष्ट्रीय सम्मेलन एवं राष्ट्रीय सम्मान 2020 का कार्यक्रम आज संपन्न हुआ। पिछले 8 वर्षों से स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करती आ रही संस्था साधना फाउंडेशन संपूर्ण भारत को एक ही छत के नीचे ला खड़ा किया, 26 फरवरी एवं 27 फरवरी को स्व० शिल्पा मौर्या जी के 32 वें जन्मदिन पर उनकी स्मृति में साधना फाउंडेशन द्वारा दो दिवसीय "काशी विश्वनाथ ब्लड कमांडो राष्ट्रीय सम्मेलन एवं राष्ट्रीय सम्मान 2020" के कार्यक्रम में भारत के कोने कोने से आए स्वैच्छिक रक्तदान संगठनों को राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया गया। साधना फाउंडेशन के संस्थापक एवं राष्ट्रीय सचिव सौरभ मौर्य ने बताया कि भारतवर्ष के समस्त रक्तदानी अपने आप को कृतार्थ महसूस कर रहे थे, कि वे कभी जीवन में सोचे भी नहीं थे कि बाबा काशी विश्वनाथ के नगरी भी वह पहुंच सकते हैं, मगर स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र में कार्य करने और इस राष्ट्रीय सम्मेलन एवं सम्मान समारोह में शामिल होने पर वह अपने आप को बहुत ही गर्व महसूस कर रहे थे। सौरभ ने बताया कि कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पिछले 40 वर्षों से स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र कार्य करने वाले एवं साधना फाउंडेशन के अभिभावक स्वरूप श्री परमजीत सिंह जग्गी जी, बनारस के प्रकांड समाजसेवी सचिन मिश्रा जी, धर्मेंद्र त्रिपाठी जी मौजूद हुए, जिनके द्वारा अनेक प्रदेशों से आए स्वैच्छिक संगठनों को राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया गया। सर्वप्रथम स्व० शिल्पा मौर्या जी की एवं चंद्रशेखर आजाद जी की छाया चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। सौरभ ने बताया कि इस पूरे कार्यक्रम में सबसे बड़े सहयोगी के रूप में कार्य करने वाली संगठन "द ब्लड आर्मी ऑफ सिक्किम" को विशेष सम्मान से सम्मानित किया गया, इसके साथ ही साथ उत्तराखंड के रुद्रपुर शहर से आए समाजसेवी दिलजीत सिंह जी को और वाराणसी के जुझारू पत्रकार रामू पांडेय को भी विशेष सम्मान से सम्मानित किया गया साथ ही साथ उत्तर प्रदेश पुलिस सब इंस्पेक्टर श्री मिथिलेश यादव रवि यादव एवं पुलिस मित्र प्रयागराज से आशीष मिश्रा जी एवं अधिवक्ता संजीव श्रीवास्तव जी का भी विशेष सम्मान किया गया।

साधना फाउंडेशन के प्रबंधक डॉ के एन पांडेय और संजय साहनी ने संयुक्त रूप से मंच से कहा कि संस्था जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, समस्त उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, तमिलनाडु, केरल, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार, राजस्थान, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, यहां तक कि कार्यक्रम में विदेशी मेहमान यूथ फॉर ब्लड नेपाल को सम्मानित करके आज संस्था अपने आप में प्रफुल्लित और गौरवान्वित महसूस कर रही है। संपूर्ण भारत के स्वैच्छिक रक्तदान के प्रति कार्य करने वाली कुल 101 संस्थाओं को सम्मानित किया गया। जिनमें मुख्य रूप से विदेश से आई संस्था यूथ फॉर ब्लड नेपाल, उत्तर प्रदेश पुलिस छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर, उड़ान हौसलों की धनबाद, प्रयास फाउंडेशन, सिंगरौली, यंगब्लड सेवा टोहाना, फतेहाबाद, लाइफ़सेवर उन्नाव, सांस्कृतिक विचार मंच जम्मू, एनजीओ स्माइल सिलचर आसाम, द ह्यूमैनिटी आसाम, नागरिक सुरक्षा बल फाउंडेशन महाराष्ट्र, ब्लड 2 डोनेट मेरठ, समर्पिता सोशल फाउंडेशन ट्रस्ट ओडिशा, बॉम्बे ब्लड ग्रुप ऑर्गेनाइजेशन तासगांव सांगली, महाराष्ट्र, सहयोग सेवार्थ फाउंडेशन भीलवाड़ा राजस्थान, ब्लड वॉलिंटियर्स हरिद्वार, जीवन रक्षक रक्त मित्र परिवार गुड़गांव, ब्लड ऑफ ड्रॉप्स तेलंगाना, रक्तदान महादान रांची झारखंड, जनकल्याण मिथिला सेवा समिति पटना बिहार, संगठन दान फाउंडेशन आगरा, काशी रक्तदान कुंभ समिति वाराणसी, थैलेसीमिया जनजागृति मुंबई, प्लेटलेट क्लब चेन्नई तमिल नाडु, साहो फॉउंडेशन आंध्र प्रदेश, देवभूमि ब्लड डोनर्स हिमाचल प्रदेश, शिवाजी यूथ ब्रिगेड वाराणसी, शिप्रा हेल्थ फाउंडेशन ग्वालियर मध्य प्रदेश, शहीद भगत सिंह यूथ क्लब हिसार हरियाणा, नाथ नगरी रक्तदान सेवा समिति बरेली, एकम न्यास अंबाला आदि संगठनों को सम्मानित किया गया।

उक्त कार्यक्रम में मुख्य रूप से संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश सिंह गौतम, अमित सिंह, शरीफ खान, श्रवण पटेल, रविन्द्र यादव, रोशन गुप्ता श्वेता मौर्या, श्वेता तिवारी, रवि किरण, बजरंग बंसल, वही सहयोगी संस्था "द ब्लड आर्मी ऑफ सिक्किम" से निर्मला पोखरेल, हेम कुमार, अनुराधा और कुमार प्रधान मौजूद हुए।

रिपोर्टर:-महेश पाण्डेय वाराणसी

Share it