Top

मुख्यमंत्री ने दिया केडीए के सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता पर मुकदमे का आदेश

मुख्यमंत्री ने दिया केडीए के सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता पर मुकदमे का आदेश

कानपुर, । कानपुर विकास प्राधिकरण के सेवानिवृत अधीक्षण अभियंता (एसई) के खिलाफ राजस्व क्षति के आरोप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए हैं। डब्ल्यू ब्लाक जूही के पश्चिम भाग में सड़कों के सुधार के लिए तय राशि से सवा दो करोड़ रुपये अधिक खर्च किए गए। उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान की जांच में इस राजस्व क्षति का कारण कृष्णकांत पांडेय की लापरवाही को माना गया। मुख्यमंत्री का आदेश जारी होने के बाद कानपुर विकास प्राधिकरण में काम की फाइल खोजी जाने लगी है।

जानिए-क्या था मामला

सतर्कता अधिष्ठान की जांच रिपोर्ट के मुताबिक कृष्ण कुमार पांडेय ने प्राधिकरण की डब्ल्यू ब्लाक जूही पश्चिम भाग में सड़कों के सुधार के लिए आमंत्रित टेंडर में निर्धारित नियमों का पालन नहीं किया। यदि उन्होंने उसी समय न्यूनतम टेंडर स्वीकार कर लिया होता तो सड़कों के सुधार का यह काम 3,28,28,190.15 रुपये में पूरा हो जाता। इस कार्य के लिए दोबारा उच्च दर पर 5,53,46,715 रुपये का टेंडर स्वीकृत किया गया। इससे सरकार को करीब सवा दो करोड़ रुपये की हानि हुई।

समय से स्वीकार नहीं किया टेंडर

एसई ने लोक सेवक रहते हुए भी विधि की अवज्ञा की और टेंडर को समय से स्वीकार नहीं किया। प्राधिकरण के वित्त एवं लेखा मैनुअल 2004 के प्राविधानों का भी उल्लंघन किया, जो आपराधिक और दंडनीय है। विजिलेंस की रिपोर्ट और संस्तुति के आधार पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराके जांच करने के निर्देश दिए हैं। इस आदेश के बाद केडीए में भी तब की फाइलें खोजी जाने लगी है। माना जा रहा है कि काम वर्ष 2004 का है।

Share it