Top
Breaking News

#आस्था_की_खिचड़ी संगम पर उमड़ी आस्था, 46 लाख ने लगाई डुबकी

#आस्था_की_खिचड़ी संगम पर उमड़ी आस्था, 46 लाख ने लगाई डुबकी

प्रयागराज,। माघ मेला-2020 में मकर संक्रांति पर बुधवार को ही संगम पर आस्था हिलोर लेती दिख रही है। भोर से ही श्रद्धालुओं ने पवित्र त्रिवेणी में पुण्य की डुबकी लगानी शुरू कर दी है। वहीं मंगलवार की भोर से ही स्नान करने श्रद्धालु पहुंचने लगे थे। कल ही शाम तक लाखों लोगों ने स्नान कर लिया था। मकर संक्रांति के पर सुबह 10 बजे तक करीब 46 लाख श्रद्धालु संगम व गंगा के घाटों पर डुबकी लगा चुके थे। ऐसा प्रशासन का दावा है।

घोषित तौर पर मकर संक्रांति का स्नान पर्व बुधवार को है पर इस बार एक दिन पहले ही संगम की रेती पर बड़ी तादाद में श्रद्धालु पहुंच गए थे। इनमें ऐसे लोगों की संख्या ज्यादा थी, जो 14 जनवरी को ही मकर संक्रांति मनाते हैैं। स्नानार्थी सोमवार रात से ही तंबुओं की नगरी में पहुंचने लगे थे। स्नान कर दान-पुण्य कर पूजन-अर्चन भी किया। वहीं बुधवार तड़के गंगा और संगम तट श्रद्धालुओं से लबालब दिखाई देने लगा। स्नान, ध्यान और दान का सिलसिला जारी है। मंगलवार को स्नान के बाद भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु तंबुओं की नगरी में रुके रहे, बुधवार को भी पुण्य की डुबकी लगा रहे हैं।

मकर संक्रांति स्नान के लिए मेला प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी करने का दावा किया है। स्नान घाटों से लेकर मेला क्षेत्र के प्रमुख मार्गों, एंट्री प्वाइंटों और पांटून पुलों पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैैं। उच्चाधिकारियों ने मेला क्षेत्र में तैयारियों का जायजा भी लिया। एक दिन पूर्व जहां कमियां पाईं गईं, उन्हें दूर करने के निर्देश दिए गए। मेला क्षेत्र में सोमवार से ही वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया गया था। यह प्रतिबंध गुरुवार सुबह तक लागू रहेगा। मेलाधिकारी रजनीश मिश्र का दावा है कि मकर संक्रांति स्नान के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैैं। स्नानार्थियों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो, इसका विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मंगलवार को ही शाम तक 22 लाख श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई है।

Share it