नीरज शेखर ने राज्यसभा के लिए दाखिल किया नामांकन पत्र, सपा एमएलसी भी रहे साथ

नीरज शेखर ने राज्यसभा के लिए दाखिल किया नामांकन पत्र, सपा एमएलसी भी रहे साथ

लखनऊ, । पूर्व सांसद व भाजपा उम्मीदवार नीरज शेखर ने राज्यसभा की एक सीट पर होने वाले उप चुनाव के लिए बुधवार को विधान भवन में राज्यसभा के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया। उनके साथ सपा के विधान परिषद सदस्य रवि शंकर सिंह और सीपी चंद्र भी मौजूद रहे। नीरज शेखर के नामांकन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह समेत कई प्रमुख लोग मौजूद रहे।

दोपहर से ही नामांकन के लिए विधान भवन स्थित भाजपा के विधान मंडल दल के कार्यालय में लोग एकत्रित होने लगे थे। नामांकन के वक्त उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा और सुरेश खन्ना भी मौजूद रहे। पूर्व सपा एमएलसी सीपी चंद्र और रवि शंकर सिंह भी राज्यसभा प्रत्याशी नीरज शेखर के नामांकन में मौजूद रहे।

पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के पुत्र नीरज शेखर अभी हाल ही में राज्यसभा और सपा की सदस्यता से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हुए हैं। नीरज शेखर लंबे समय से समाजवादी पार्टी से जुड़े थे। लोकसभा चुनाव में सपा मुखिया अखिलेश यादव द्वारा टिकट न दिए जाने से नाराज नीरज ने राज्यसभा से इस्तीफा देते हुए हाल ही में भाजपा ज्वाइन कर ली थी। उप चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश कोटे से नीरज शेखर को भाजपा ने अपना उम्मीदवार घोषित किया है। राज्यसभा के लिए निर्वाचित होने के बाद शेखर का कार्यकाल नवंबर 2020 तक रहेगा।

नीरज शेखर की राजनीतिक यात्रा

पिता पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की मृत्यु के बाद हुए उपचुनाव में जीतकर नीरज शेखर पहली बार सांसद में पहुंचे। वह 2009 के लोकसभा चुनाव फिर जीते और लोकसभा पहुंचे, लेकिन 2014 के मोदी लहर में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।इसके बाद सपा ने उन्हें राज्यसभा भेज दिया। वर्ष 2019 में एक बार फिर वह लोकसभा चुनाव लड़कर पिता की विरासत को सहेजना चाहते थे, लेकिन पार्टी अध्यक्ष ने राज्यसभा सदस्य का हवाला देते हुए टिकट नहीं दिया। तभी से नीरज शेखर नाराज चल रहे थे। बात यह भी आई कि टिकट न मिलने से नाराज नीरज के समर्थकों ने चुनाव में भाजपा के लिए प्रचार किया।

Share it
Top