दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली मां-बेटी ने पूर्व खनन मंत्री को दी क्लीन चिट, बयान से पलटीं

दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली मां-बेटी ने पूर्व खनन मंत्री को दी क्लीन चिट, बयान से पलटीं

चित्रकूट,। सपा सरकार में उप्र के पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला अपने बयान से पलट गईं हैं। कोर्ट में दाखिल बयान में उसने पूर्व मंत्री पर लगाए आरोप को वापस ले लिया है। महिला व उसकी बेटी ने कहा है कि पूर्व मंत्री ने उससे दुष्कर्म नहीं किया है, उनकेसहयोगी रहे दो लोगों ने दुष्कर्म किया था।

ये हुआ था मामला

उप्र के विधानसभा चुनाव से ऐन पहले चित्रकूट की कर्वी की रहने वाली एक महिला ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए सनसनी मचा दी थी। उसका आरोप था कि वर्ष 2014 में नौकरी और प्लॉट दिलाने के बहाने लखनऊ के आवास में बुलाया और फिर चाय में नशा मिलाकर पिलाने के बाद मंत्री और उसके सहयोगी ने उससे दुष्कर्म किया। अश्लील वीडियो और तस्वीरें खींचकर ब्लैकमेल करते हुए वर्ष 2016 तक उसे और उसकी बेटी से दुष्कर्म करते रहे। थाने में तहरीर दी लेकिन कार्रवाई न होने पर उसने आलाधिकारियों से भी शिकायत की। इंसाफ नहीं मिलने पर उसने उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की तो वह भी खारिज हो गई थी। इसके महिला की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस को तत्काल गायत्री प्रसाद प्रजापति पर मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए थे।

राजनीतिक गलियारों में खूब मिली थी हवा

सपा की सरकार में खनन मंत्री रहने के कारण गायत्री प्रसाद को लेकर राजनीतिक गलियारों में मामले को खूब हवा दी गई। ऐन चुनाव से पहले मामला सामने आने पर विरोधी दलों ने इसे मुद्दा बना लिया था और भड़ास निकाली शुरू कर दी थी। विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की काफी किरकिरी भी हुई थी। पूर्व मंत्री पर लखनऊ के थाने में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज हुई थी और जांच के दौरान वह जेल भी गए थे। आरोपित तत्कालीन मंत्री ने महिला का नारको टेस्ट कराने की भी मांग मीडिया के सामने रखी थी।

अब महिला ने वापस लिए आरोप

सत्ता के गलियारे में हलचल मचा देने वाली इस घटना को लेकर अब एक नया मोड़ आ गया है। चित्रकूट कर्वी की रहने वाली इस महिला व उसकी बेटी ने बताया कि शनिवार को एमपी-एमएलए अदालत प्रयागराज में बयान दर्ज कराया है। अपने बयानों में मां-बेटी ने गायत्री प्रजापति को क्लीन चिट देते हुए दुष्कर्म न करने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि धोखे में रख कर राम सिंह व उसके साथी ने यह साजिश रची थी। न तो वह पूर्व मंत्री के आवास या होटल गईं और न ही उनके विधायक आवास गई थीं। महिला ने आरोप लगाते हुए राठ निवासी राम सिंह व उसके साथियों ने दिल्ली व लखनऊ के होटल में ले जाकर दुष्कर्म किया और अब ब्लैकमेल कर रहा है। उसके खिलाफ राठ में रिपोर्ट दर्ज है।

Share it
Top