लाचार पिता ने खून से लिखा पत्र, पीएम मोदी से 'आखिरी' गुहार- प्लीज हमारी मदद करो

लाचार पिता ने खून से लिखा पत्र, पीएम मोदी से आखिरी गुहार- प्लीज हमारी मदद करो

मैनपुरी के गांव कत्तरा निवासी एक व्यक्ति ने अपने खून से पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद की गुहार लगाई है। उसके तीन बच्चे गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। इलाज में लाखों रुपये खर्च करने के बाद भी बच्चे ठीक नहीं हुए हैं। उसने शासन-प्रशासन से मदद मांगी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुआ। पीड़ित ने कहा है कि अगर इस बार मदद नहीं मिली तो वो जिलाधिकारी कार्यालय के सामने परिवार सहित आत्मदाह कर लेगा।

किशनी क्षेत्र के गांव कत्तरा निवासी शिववीर सिंह के तीन बच्चे करिश्मा (8), दिव्यांशु (6) और राधा (2) हैं। पिछले दो वर्षों से करिश्मा और दिव्यांशु थैलेसीमिया से पीड़ित हैं। हर महीने दोनों बच्चों के शरीर का खून बदला जाता है, जिसका 10 हजार रुपये खर्चा आता है। शिववीर बच्चों का सैफई और दिल्ली तक इलाज करवा चुके हैं, लेकिन डॉक्टरों ने स्थाई इलाज के लिए ऑपरेशन बताया है।

ऑपरेशन में एक बच्चे का खर्चा 22 लाख रुपये आएगा। जो उनके पास नहीं है। बीमारी ने उनके तीसरे बच्चे राधा को भी चपेट में ले लिया है। उसमें भी थैलेसीमिया के लक्षण डॉक्टरों ने बताए हैं। सारी जमापूंजी इलाज में खर्च हो चुकी है। परेशान होकर शिववीर व उनकी पत्नी प्रियंका ने बच्चों के इलाज के लिए घर-घर भीख मांगने का फैसला लिया है।

शिववीर ने कहा कि कहीं से सहायता न मिलने पर वो बच्चों को अपने सामने मरता हुआ नहीं देख पाएगा। जिलाधिकारी से मिलकर इलाज में सहायता मांगेंगे। सहायता न मिलने पर बच्चों के साथ पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह कर लेंगे। बता दें कि शिववीर के पास पैतृक पांच बीघा जमीन है, जिसमें से चार बीघा जमीन वो 11 लाख में बेचकर बच्चों का इलाज करा चुके हैं। एक बीघा शेष जमीन भी साहूकार के पास गिरवी रखी है।

Share it
Top