लखनऊ : कैंपबेल रोड पर बाइक सवार बदमाशों ने टेंट कारोबारी को सरेरहा सिर में मारी गोली

लखनऊ : कैंपबेल रोड पर बाइक सवार बदमाशों ने टेंट कारोबारी को सरेरहा सिर में मारी गोली

ठाकुरगंज इलाके में टेंट कारोबारी छोटू लोधी की शनिवार रात कैंपबेल रोड स्थित शराब ठेके के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई। वह प्रॉपर्टी डीलिंग व ब्याज का भी काम करता था। छोटू अपने भतीजे व भांजे के साथ ठेके पर गया था। बाइक सवार दो बदमाशों ने उसके सिर पर पीछे से गोली मारी और भाग निकले। पुलिस ने ठाकुरगंज व सआदतगंज थाने में छोटू के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज होने की पुष्टि की है।

पुलिस के मुताबिक, मोहल्ला कन्हई खेड़ा निवासी टेंट हाउस कारोबारी छोटू लोधी (32) देर शाम अपने भतीजे दिनेश व भांजे मनोज के साथ कैंपबेल रोड स्थित शराब के ठेके पर गया था। वहां बाइक सवार दो बदमाश आ धमके।

दिनेश ने पुलिस को बताया कि बाइक की पिछली सीट पर बैठे बदमाश ने छोटू के सिर को पीछे से निशाना बनाकर गोली मार दी। गोली लगते ही छोटू गिर पड़ा और बदमाशों की बाइक तेजरफ्तार से बालागंज चौराहा की तरफ दौड़ गई। मनोज का कहना है कि वह गिलास लेने गया था।

फायर की आवाज सुनकर पलटा तो बदमाशों को बाइक से भागते देखा। फायरिंग की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आसपास के लोगों की मदद से छोटू को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

टेंट कारोबारी की हत्या की सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, अपर पुलिस अधीक्षक नगर पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी व क्षेत्राधिकारी चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी आसपास के थानों की पुलिस को लेकर मौके पर पहुंचे।

इलाके में चेकिंग के साथ छानबीन शुरू की गई। छोटू की पत्नी रेनू, आठ वर्षीय बेटा आदर्श व परिवार के अन्य लोग रोते बिलखते ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। पत्नी ने किसी रंजिश से इन्कार करते हुए कहा कि छोटू टेंट के साथ प्रॉपर्टी डीलिंग करके परिवार का भरण-पोषण करता था।

बड़े भाई बबलू और नीलू ने कुछ विवाद बताए हैं। इलाके में तहकीकात पर पुलिस को छोटू लोधी के आपराधिक इतिहास की भनक लगने के साथ पता चला कि वह ब्याज पर रकम देने का भी काम करता था।

पुलिसकर्मियों से थे दोस्ताना संबंध

आसपास के लोगों ने पुलिस को जानकारी दी कि छोटू लोधी ने कुछ समय पहले ही टेंट का काम शुरू किया था। इससे पहले बड़े प्रॉपर्टी डीलरों के साथ काम करके पहचान बनाई थी और खुद भी प्रॉपर्टी डीलिंग शुरू की थी। कई पुलिसकर्मियों से उसके दोस्ताना संबंध थे।

रिश्तेदारों के बयान में विरोधाभास

शराब ठेके पर छोटू लोधी के साथ मौजूद मनोज ने पुलिस को बताया कि बाइक चला रहा बदमाश हेलमेट लगाए था और दिनेश ने बाइक चलाने वाले द्वारा चेहरे पर मफलर लपेटे होने की जानकारी दी।

छह साल पहले बीयर शॉप पर हुई थी हत्या

कैंपबेल रोड पर शराब के जिस ठेके के पास शनिवार रात टेंट कारोबारी छोटू लोधी को गोली से उड़ाया गया वहां से सौ मीटर दूर बीयर शॉप पर 16 अक्तूबर 13 को तेल व्यवसायी श्रवण साहू के बेटे आयुष की गोली मारकर हत्या की गई थी। आयुष की हत्या में नामजद अकील अंसारी पुलिस का मुखबिर था। छोटू लोधी के खिलाफ आपराधिक मामले और पुलिस से दोस्ती बताई जा रही है।

Share it
Top