Breaking News

सपा कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़, पुलिस ने किया लाठी चार्ज, सपाई चोटिल

सपा कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़, पुलिस ने किया लाठी चार्ज,  सपाई चोटिल

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अखिलेश यादव का कार्यक्रम रद्द होने से तनाव बढ़ता जा रहा है। कार्यक्रम रद्द होते ही विश्वविद्यालय सपा कार्यकताओं की आपात बैठक बुलाई गई। मौके हजारों की संख्या में लोग जुटे हुए हैं। विश्वविद्यालय परिसर में तनाव का माहौल है। इविवि में मंगलवार को शिक्षण कार्य स्थगित कर दिया गया है। पूर्व सीएम का कार्यक्रम रद्द करने के विरोध में सपा कार्यकर्ता जुलूस निकालकर बालसन जा रहे हैं। मौके पर भारी फार्स तैनात है। इस दौरान जुलूस में बदायूं सपा सांसद धर्मेंद्र यादव, फूलपुर सांसद नागेन्द्र पटले और प्रवीण निषाद भी शामिल हैं।आक्रोशित कार्यकताओं ने बालसन चौराहे पर सरकारी होर्डिंग तोड़ दिए। मौके पर पुलिस बल उन्हें रोकने की कोशिश की जा रही है।

पुलिस ने रिचा सिंह समेत कई सपाई कार्यकर्ताओं को बालसन चौराहे पर रोक दिया है। मौके पर आरएफ मौजूद है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अवनीश यादव समेत अन्य सभी कार्यकर्ताओं ने बालसन चौराहे पर चक्काजाम किया है। तोड़फोड़ कर रहे सपा कार्यकर्ताओं के ऊपर पुलिस ने लाठी चार्ज करना शुरू कर दी है। लाठी चार्ज के विरोध में सपा कार्यकर्ताओं ने पथराव करना शुरु कर दिया है। इससे राहगीरों में भगदड़ मच गई है। लाठी चार्ज के दौरान कई सपा कार्यकर्ता चोटिल हो गए हैं।

पूर्व सीएम अखिलेश यादव का कार्यक्रम रद्द होने के बाद विश्वविद्यालय में छात्रों ने विरोध किया। जिला प्रशासन और यूनिवर्सिटी ने पहले ही उनके कार्यक्रम पर रोक लगा दी थी। लेकिन समाजवादी छात्रसभा के तमाम छात्रनेता उनके कार्यक्रम को लेकर अड़े हुए थे। वहीं सीएम योगी ने कहा कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में अराजकता न हो इसलिए अखिलेश को रोका गया है। यूनिवर्सिटी प्रशासन और प्रयागराज जिला प्रशासन ने भी यह मांग की थी। सीएम योगी ने कहा कि समाजवादी पार्टी अराजकता फैलाने के लिए जानी जाती है, अखिलेश जाते तो इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में बवाल होता। छात्र गुटों में हिंसा की आशंका के चलते भी उन्हें रोका गया है।

सपा सांसद धर्मेंद्र यादव मौके पर पहुंचकर छात्रों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की अव्यवस्था और धांधली के जिम्मेदार वीसी रतनलाल हांगलू के खिलाफ जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएम योगी घबराए हैं क्योंकि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने उन्हें बुलाया है।समाजवादी छात्रसभा और एबीवीपी के बीच सीधे टकराव को देखते हुए विश्वविद्यालय परिसर में केंद्रीय पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।

Share it
Top