आजमगढ़ में राम-सीता और लक्ष्मण की बेशकीमती मूर्तियां चोरी

आजमगढ़ में राम-सीता और लक्ष्मण की बेशकीमती मूर्तियां चोरी

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ के निजामाबाद क्षेत्र में स्थित प्राचीन राम जानकी मंदिर से भगवान श्रीराम, जानकी और लक्ष्मण की अष्टधातु की मूर्ति चोरी हो गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि परवेजाबाद गांव में वर्ष 1872 में शिवकुमार गुप्ता के परिजनों द्वारा भव्य श्रीराम जानकी मंदिर का निर्माण कराया गया था। मंदिर में भगवान श्रीराम, सीता और लक्ष्मण की अष्टधातु की मूर्तियां स्थापित की गई थी। मूर्तियों की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रूपए है।
उन्होंने बताया कि शनिवार रात पुजारी पूजा-अर्चना के बाद मंदिर बंद कर चले गए। इसी बीच रात में चोर मंदिर में घुसकर तीनों मूर्तियों को चुराकर ले गए। सुबह जब मंदिर के पुजारी शिवकुमार गुप्ता पूजन के लिए गए तो मंदिर का दरवाजा खुला पड़ा था और सिंहासन से श्रीराम, सीता और लक्ष्मण की मूर्ति गायब थी। मूर्ति चोरी की घटना जंगल की आग की तहर इलाके में फैल गई।
सूचना के बाद थानाध्यक्ष निजामाबाद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। थोड़ी ही देर में क्षेत्राधिकारी नगर फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और डाग स्क्वायड टीम के साथ मौके पर पहुंचे। खोजी कुत्तों को मंदिर से लेकर गलियों तक घुमाया गया लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं मिला। गौरतलब है कि इसके पूर्व भी क्षेत्र में कई बार मूर्तियां गायब हो चुकी हैं।

Share it
Share it
Share it
Top