'भागवा' हुईं मेरठ-सहारनपुर की मंडी

भागवा हुईं मेरठ-सहारनपुर की मंडी

भाजपा सरकार बनने के छह माह बाद सरकारी विभागों में भगवा आभा छाने लगी है. दिल्ली रोड स्थित नवीन मंडी समेत मेरठ और सहारनपुर मंडल की सभी मंडियों में मुख्य गेट समेत चप्पे-चप्पे को केसरिया रंग में रंग दिया गया है.
दिल्ली रोड स्थित नवीन मंडी में पिछले दो-तीन दिनों से नजारा बदला-बदला नजर आ रहा है. मंडी परिसर में दो-तीन बार झाड़ू लग रही है और मलबा उठाया जा रहा है. इसी के साथ मुख्य द्वार समेत मंडी समिति के कार्यालय के बोर्डों को केसरिया रंग से रंग दिया गया है. रेलिंग भी केसरिया रंग दी हैं.
मंडी में आने वाले किसान और व्यापारी भी यहां का बदला हाल देखकर चौंक रहे हैं. यहां तक कि पेड़ों और बिजली के खंभों पर भी केसरिया और सफेद रंग कर दिया गया है. जगह-जगह स्वच्छता का संदेश देते स्लोगन भी लिखे हैं. यही नहीं मोदी सरकार के महात्मा गांधी वाले लोगो को भी दीवारों पर केसरिया रंग से बनाया गया है.
नवीन मंडी परिषद के उप निदेशक (प्रशासन) पुष्प राज सिंह ने बताया कि 1973 में विभाग का गठन हुआ था. उसके बाद से पहला मौका है जब सभी मंडियों में इस तरह का स्वच्छता अभियान चलाया गया है. उन्होंने बताया कि केसरिया रंग में रंगने के लिए कोई सरकारी आदेश नहीं है. केसरिया रंग विकास और शौर्य का प्रतीक है. मंडी में आने वाले किसानों का चहुंमुखी विकास हो इस भावना से इस रंग का प्रयोग किया गया है.

Share it
Share it
Share it
Top