ब्रेकिंग

प्रीति चौबे की मन की बात : केंद्र सरकार योजनाओं का नाम बदल कर काम चला रही

प्रीति चौबे  की मन की बात : केंद्र सरकार योजनाओं का नाम बदल कर काम चला रही

आज कल मन की बात करने का दौर चल रहा है सोचा मै भी कुछ आप लोगो से साझा कर लू :-

प्रधान सेवक जी काले धन पर आप आज तक कुछ नहीं बोले बोलेगे भी क्या जब आप खुद के चुनाव मे 11000 करोड़ खर्च करते हैं, दूसरे के काम पर अपना नाम तो लगाना आपसे सीखे, हमारे वैग्यानिको ने एक साथ 104 सेटलाइट छोड़े और इसका सारा श्रेय माननीय प्रधान सेवक जी के नाम हुआ कश्मीर मे चेन्नानी ने श्री टनल का श्रेय भी प्रधान सेवक जी ने लिया जबकि इसकी शुरुआत 2009 मे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने की थी, पिछले 3 सालो मे अगर कोई भी नई स्कीम शुरु हुई हो तो कृपया आप सब मुझे बताइए,

आपने बेसिक सेविंग को भी जन धन योजना बना दिया,नेशनल गर्ल चाइल्ड को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का नाम दे दिया, निर्मल भारत को स्वच्छ भारत का नाम दे दिया राजीव गांधी आवास को सरदार पटेल, अर्बन हाउसिंग स्वलम्बन को अटल पेंशन योजना का नाम दे दिया, नेशनल मैन्यूफैक्चरिंग पॉलिसी को मेक इन इंडिया बना दिया, नेशनल ई गवर्नेंस प्लान को डिजिटल इंडिया बना दिया, ऐसी तमाम योजनाओं के नाम बदल देने से योजनाए तो नई नहीं हो जाती है, GST को 2011 मे पेश कर दिया था, और उसको पास करवाने की कोशिश UPA सरकार ने की और तब इसका विरोध BJP ने यह कह कर किया था की GST देश की तरक्की मे बाधा है, और अब इसको खुद लागू करके प्रधान सेवक जी ने इसका श्रेय भी अपने नाम कर लिया, मनरेगा की इतनी फजीहत आपने की और अब उसको ही आपने आगे बढ़ाया आपने सदैव अधार कार्ड का भरपूर विरोध किया और ख़ुद ही इसको हर चीज़ मे जरूरी बनाने की कोशिश की जा रही है, नोट बन्दी से कितना काला धन वापस आया, वो आप आज तक नहीं बता पाये, नोट बन्दी से आतंकवाद पर आप अंकुश लगा पाए या कश्मीर मे पत्थर बाजो को रोक पाये वो दिखाई दे रहा है, आज तक इतिहास मे कोई भी प्रधान मंत्री बार्डर और सेना की गतिविधियों को लोगो के बीच नहीं लाए, लेकिन आपने करगिल युद्ध सर्जिकल स्ट्राइक को चुनावी मुद्दा तक बना दिया,

जबकि सर्जिकल स्ट्राइक पहले भी कई बार हुई है, खैर प्रधान सेवक जी हमारे मन की बात तो यह है, आपकी पार्टी 23 जनवरी 2014 को करेंसी बदलने का विरोध करती रही है, और आप 8 नवंबर 2016 को ख़ुद करेंसी बदल डालते हैं, आपकी पार्टी 2013 मे 85 रुपये प्रति किलो दाल बिकने पर पूरे देश मे महंगाई का विरोध करते है, और वही आपके शासनकाल मे दाल, अब 150 से 200 रुपये प्रति किलो बिकती हैं, आपकी पार्टी गौ वंश हत्या का विरोध करती है, जबकि आपके सत्ता मे आते ही भारत बीफ एक्सपोर्ट मे दुनिया का no 1 देश बन जाता है, आपकी पार्टी 2004 से 2014 तक 1 रुपया रेल किराया बढ़ाने पर चक्का जाम कर रही थी और आपके सत्ता मे आते ही रेल किराए मे 60% से 70% का इजाफा हुआ है, निर्भया के समय मे एक बलात्कार के विरोध मे आपकी पार्टी 3 महीने आंदोलन करती रही है इनका विरोध करना ही चाहिए हम भी करते हैं, लेकिन BJP शासन मे MP मे राजस्थान हरियाणा UP और दिल्ली NCR मे ना जाने कितने बलात्कार हो रहे है तो अब आपके कानो पर जूं तक नहीं रेंगती या आपका ज़मीर मर गया है UPA सरकार ने 125 से 140 डालर प्रति बैरल मे अंतर्राष्ट्रीय बाजार से कच्चा तेल खरीद कर 70 रुपए लीटर पेट्रोल बेचा, उसके विरोध मे BJP बैलगाड़ी मोर्चा निकालती है लेकिन आपके शासन मे 50 से 60 डालर प्रति बैरल कच्चा तेल खरीद कर आप 70 रुपये में पेट्रोल बेच रहे हैं,आपकी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण भ्रष्टाचार के पैसे लेते पकड़े जाते हैं, और फिर भी आपकी पार्टी ईमानदार है, बाकी सब भ्रष्टाचारी हैं, आप कहते हैं आप प्रतिदिन 18 घंटे काम करते हैं, और 3 साल मे आपने देश का कौन सा विकास का कार्य किया हो तो ऐसा कुछ नजर नहीं आता, आपने 100 दिन मे सारा काला धन वापस लाने का वादा किया था, और अब 1100 दिन मे भी आप विदेश से काला धन वापस नहीं ला पाये सिर्फ़ विदेशों के दौरे ही कर पाए फिर भी आज पड़ोसी देशों से संबंध अच्छे ना बना पाए, किसानों को भी उनके उत्पादन खर्च पर 50%लाभ देने का वादा किया था, और पिछले 3 सालों में किसानों के उत्पादन का सरकारी 1 रुपया भी नहीं दिया गया, आपने कहा चीन को सरकार बनते ही सबक सिखाएगे परंतु वो आज भी बार बार आँखे दिखाता है और आप मौन धारण करने के साथ सरदार पटेल की मूर्ति बनाने का कॉन्ट्रैक्ट देते है, आपने कहा 1 भारतीए शहीद जवान के बदले 10 पाकिस्तानी सर लाने का वादा करने वाले प्रधान सेवक जी आप आधा सर भी लाने मे सफल नहीं हो पाए बस आज आप और आपके मंत्री सिर्फ़ कड़ी निंदा कर देते हैं, इन सब सवालों के जवाब अब देश की जनता आपसे चाहती है, और दोस्तो देश का 4 स्तंभ कही जाने वाली हमारी मीडिया जिसकी भूमिका भी अब शक़ के घेरे मे है ऐसा लगता है कि कुछ चैनल ने तो हमेशा बार्डर पर ही रहते है, पाकिस्तान से एक स्टूडियो युग इन्होने शुरू किया है, देश की तरक्की के लिए सरकार क्या - क्या कर रही है इस बात से ए लोग कोशो दूर है, सोचिए आज हमे देश भक्ति का सबूत कुछ लेना पड़ता है, हमारी मानसिकता आज इस अस्तर पर पहुंच चुकी है कि अमरनाथ हमले मे 50 लोगों की जान बचाने वाले सलीम को सरकार धन्यबाद कहने की बजाय हम उसी पर शक़ से पूछा जाता है वो कैसे बच गया, गौ रक्षा के नाम पर इतनी हत्या और दंगे हो चुकी है अखिर किस लिए कुछ लोग भगवा पहन कर अपने आप को ही कानून के नुमाइंदे और उससे ऊपर समझने लगे हैं, सरे आम दंगे फसाद करने लगे हैं, ऐसे लोगो से बस इतना कहना चाहूंगी कुछ लोग केसरिया रंग बदनाम करने लगे हैं, यह रंग तो हमे शहीद भगत सिंह जी की याद दिलाता है और ए हमारी संस्कृति की याद दिलाता है, ए देश महात्मा गांधी का देश है इसे गोडसे का देश मत बनने दे.....


जय हिंद जय भारत (प्रीति चौबे)


Share it
Share it
Share it
Top
To Top
Select Location