नेता का किरदार, एडवोकेट गज़ब

नेता का किरदार, एडवोकेट गज़ब

सिब्बल की वकालत ।

ख़त्म करो क़ानून ।।

देशद्रोह समाप्त ।

उनका अब जुनून ।।

उमड़ रहा प्यार ।

देखो उनका अजब ।।

नेता का किरदार ।

एडवोकेट ग़ज़ब ।।

देख रही जनता ।

पूरा होगा ख़्वाब ?

करेंगे अब दाख़िल ।

कोर्ट में जनाब ?

व्यंग्यात्मक लेखक : कृष्णेन्द्र राय

पवई,मुंबई

(ईमेल :-Krishnendra.rai@hotmail.com)

Share it
Share it
Share it
Top