बौखलाये दहशतगर्द : कृष्णेन्द्र राय

बौखलाये दहशतगर्द : कृष्णेन्द्र राय

बौखलाये दहशतगर्द

धर पकड़ का दौर ।

मिल रही सफलता ।।

जाबाजों पर नाज ।

आतंकी विफलता ।।

चौकस शूरवीर ।

बौखलाये दहशतगर्द ।।

पर नहीं भूलता ।

26/11 दर्द ।।

मुँहतोड़ जवाब ।

देना है जारी ।।

लाख फेंको पत्थर ।

उतरेगी ख़ुमारी ।।

व्यंग्यात्मक लेखक : कृष्णेन्द्र राय

Krishnendra Rai

Share it
Share it
Share it
Top