Top

भारत में कम्युनिटी में वायरस फैलने के सबूत नहीं, रिजल्ट निगेटिव

भारत में कम्युनिटी में वायरस फैलने के सबूत नहीं, रिजल्ट निगेटिव

भारत में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते असर के बीच एक अच्छी खबर आई है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के द्वारा दावा किया गया है कि भारत में कोरोना वायरस समाज में फैल नहीं रहा है. यानी कि अगर किसी एक व्यक्ति में पॉजिटिव लक्षण पाए गए तो इसका मतलब ये नहीं है कि उसकी वजह से पूरे इलाके में इसका असर फैल जाएगा. लगातार पॉजिटिव आ रहे मामलों के बीच ये राहत वाली खबर हो सकती है.

ICMR के सूत्रों के मुताबिक, देश के अलग-अलग हिस्सों से करीब 1000 सैंपल लिए गए हैं, उससे पता चला है कि देश में अभी कोरोना वायरस का दूसरा फेज़ चालू था. जिनके सैंपल लिए गए हैं, वो ना तो विदेश गए थे और ना ही किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आए थे जो विदेश गया हो. इन्हीं सैंपल के आधार पर ये सामने आया है कि भारत में अभी कोरोना वायरस ने विकराल रूप नहीं लिया है, जो कि आसानी से एक दूसरे में फैल जाए.

ICMR ने इन सैंपलों को जांच के लिए अलग-अलग लैब में भेजा था. हालांकि, अभी ये विस्तृत रिपोर्ट नहीं है. ICMR गुरुवार दोपहर को ही इस बारे में जानकारी देगा.

ICMR की इस जांच के मुताबिक-

- देश की 52 टेस्टिंग लैब से कुल 1000 सैंपल लिए गए. हर लैब से करीब 20 सैंपल.

- ये वो 1000 लोग थे जिनकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं थी, यानी इन्होंने विदेश यात्रा नहीं की थी.

- 17 मार्च को शुरुआती 500 सैंपल की रिपोर्ट आई, जिसमें सभी नेगेटिव निकले थे.

- ICMR अब हर हफ्ते इसी तरह सैंपल उठाएगा और इनकी जांच करेगा.

- इन्हीं नतीजों के आधार पर केंद्र सरकार देश में कोरोना वायरस के सैंपल जांच की रणनीति में बदलाव करती रहेगी

Share it