Top

पड़ोसी देशों में हिंदुओं पर जुल्म, कांग्रेस पाक के खिलाफ नहीं शरणार्थियों के खिलाफ बोल रही

पड़ोसी देशों में हिंदुओं पर जुल्म, कांग्रेस पाक के खिलाफ नहीं शरणार्थियों के खिलाफ बोल रही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को दो दिवसीय कर्नाटक दौरे पर बंगलूरू पहुंचे। सबसे पहले वह तुमकुरु के श्री सिद्धगंगा मठ पहुंचे जहां उन्होंने एक रैली को संबोधित किया और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। प्रधानमंत्री ने नागरिकता संसोधन कानून का जिक्र करते हुए कहा कि हम धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का काम कर रहे हैं जबकि कांग्रेस उनके खिलाफ रैली निकाल रही है। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद से सामान्य लोगों के जीनव में सार्थक परिवर्तन लाने वाले अभूतपूर्व प्रयास शुरू हुए।

प्रधानमंत्री ने कहा, 'भारत ने 21वीं सदी के तीसरे दशक में नई ऊर्जा और नए जोश के साथ प्रवेश किया है। आपको याद होगा कि पिछले दशक की शुरुआत के समय देश में किस तरह का माहौल था। लेकिन यह तीसरा दशक उम्मीदों और आकांक्षाओं की मजबूत नींव के साथ शुरू हुआ है।'

सीएए का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'पाकिस्तान का निर्माण धर्म के आधर पर हुआ था। वहां धार्मिक अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित किया जाता है। प्रताड़ित लोग शरणार्थी के तौर पर भारत आने के लिए मजबूर हैं। लेकिन कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियां पाकिस्तान के खिलाफ नहीं बोलती हैं बल्कि वह इन शरणार्थियों के खिलाफ रैलियां निकाल रहे हैं। अब ये हर भारतीय का मानस बन चुका है कि विरासत में जो समस्याएं हमें मिली हैं, उनको हल करना ही होगा। समाज से निकलने वाला यही संदेश हमारी सरकार को प्रेरित भी करता है और प्रोत्साहित भी करता है।'

अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, '2014 के बाद से ही सामान्य मानवीय के जीनव में सार्थक परिवर्तन लाने वाले अभूतपूर्व प्रयास भारत ने किए हैं। आज खुले में शौच से देश को मुक्त करने का संकल्प, गरीब बहनों को धुएं से मुक्ति का संकल्प और किसानों, छोटे व्यापारियों, श्रमिकों को पेंशन का संकल्प सिद्ध हो रहा है। हमने धारा 370 को खत्म करके कश्मीर को आतंकवाद और अनिर्णय की स्थिति से मुक्त किया है। हम पड़ोसी देशों से धार्मिक रूप से पीड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता प्रदान कर रहे हैं और शांति, सद्भाव के लिए भगवान राम की जन्मभूमि पर एक राम मंदिर भी बनाया जा रहा है।'

किसान सम्मान निधि योजना की तीसरी किस्त आज होगी जारी

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की तीसरी किस्त को आज ही जारी किया जाएगा। पीएम मोदी कर्नाटक से इस योजना की तीसरी किस्त जारी करेंगे। इस योजना से देश भर के छह करोड़ किसानों को लाभ होगा।

बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने इस योजना की शुरुआत की थी, जिसके जरिए किसानों को छह हजार रुपये सालाना की मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री मोदी आज लगभग 12 हजार करोड़ रुपये की धनराशि को जारी करेंगे।

कर्नाटक को नजरअंदाज करने को लेकर कांग्रेस ने साधा मोदी पर निशाना

कृषि कर्मण पुरस्कार वितरित करेंगे पीएम मोदी

पीएम मोदी तुमकुर में एक सार्वजनिक सभा में कृषि कर्मण पुरस्कार वितरित करेंगे। प्रधानमंत्री प्रगतिशील किसानों के लिए कृषि मंत्री के कृषि कर्मण पुरस्कार भी देंगे।

डीआरडीओ युवा वैज्ञानिक लेबोरेटरी का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी अनुसंधान क्षमताओं को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कर्नाटक दौरे के दौरान पांच डीआरडीओ युवा वैज्ञानिक लेबोरेटरी का उद्घाटन करेंगे। पीएम मोदी गुरुवार को पांच डीआरडीओ युवा वैज्ञानिक प्रयोगशालाएं राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बृहस्पतिवार के दौरे से पहले कर्नाटक कांग्रेस ने उन पर राज्य को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया और सवाल किया कि उन्होंने पिछले साल भयंकर बाढ़ के कारण राज्य के अधिकतर हिस्सों के प्रभावित होने के बावजूद उचित राहत क्यों नही दीं और यहां का दौरा क्यों नहीं किया।

कांग्रेस की कर्नाटक इकाई ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री से सवाल किया कि सिद्धगंगा मठ के शिवकुमार स्वामीजी को भारत रत्न क्यों नहीं दिया गया? उनका 111 वर्ष की आयु में पिछले साल निधन हो गया था।

राज्य कांग्रेस ने ट्वीट किया कि आपने राज्य का दौरा तब क्यों नहीं किया, जब वह बाढ़ से प्रभावित था? एक लाख करोड़ रुपए से अधिक के नुकसान के बावजूद इसे राष्ट्रीय आपदा क्यों घोषित नहीं किया गया? आपने अंतरिम राहत क्यों नहीं दी? जब राज्य सरकार ने रिपोर्ट दी थी कि 35,300 करोड़ रुपए की सम्पत्ति का नुकसान हुआ तो आप 1,200 करोड़ रुपए देकर चुप क्यों बैठ गए?

कांग्रेस ने सवाल किया कि केंद्र जीएसटी राशि का राज्य का पर्याप्त हिस्सा क्यों नहीं दे रहा, मनरेगा कार्यक्रम के तहत बकाए का भुगतान अभी तक क्यों नहीं किया गया और राज्य को अनुदान आवंटित करते समय नजरअंदाज क्यों किया जा रहा है? कांग्रेस ने क्षेत्रीय भाषाओं और मातृभाषा को नजरअंदाज करके हिंदी भाषा को बढ़ावा देने पर भी भाजपा नीत केंद्र सरकार को निशाना बनाया।

Share it
Top