Top

परमाणु धमकी भी नहीं आई काम, मुंह लटकाकर बातचीत की टेबल पर आया पाकिस्तान

परमाणु धमकी भी नहीं आई काम, मुंह लटकाकर बातचीत की टेबल पर आया पाकिस्तान

भारत को जंग की धमकी और परमाणु हमले की धौंस देने वाला पाकिस्तान आखिरकार मुहं लटकाकर बातचीत की टेबल पर आ गया है. कश्मीर मुद्दे पर दुनिया भर में अपना प्रोपगैंडा बेचने में नाकाम रहने पर विदेश मंत्री शाह महूमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान तो भारत से द्विपक्षीय बातचीत में कोई ऐतराज नहीं है.

विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि पाकिस्तान ने कभी भी बातचीत से इनकार नहीं किया है. बता दें कि पाकिस्तान का ये बयान तब आया है जब कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 खत्म किये जाने अब भारत से कोई बातचीत नहीं हो सकती है.

शाह महमूद कुरैशी ने वार्ता की पेशकश करते हुए कहा कि अगर इसमें कोई तीसरा पक्ष मध्यस्थता करता है तो पाकिस्तान को खुशी होगी, हालांकि उन्होंने कहा कि भारत की ओर से उन्हें वार्ता का कोई माहौल नहीं दिखता है. कुरैशी ने कहा, "फिलहाल भारत द्वारा बातचीत का कोई माहौल नहीं दिखता है." शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि कश्मीर मामले के तीन पक्ष हैं. भारत-पाकिस्तान और कश्मीर. कुरैशी ने कहा कि वार्ता शुरू होने के लिए जरूरी है कि नजरबंद किए गए कश्मीरी नेताओं को रिहा किया जाए.

कुरैशी ने बातचीत के लिए एकपक्षीय शर्त रखते हुए कहा कि उन्हें कश्मीरी नेतृत्व से मिलने की इजाजत दी जाए, ताकि वे उनसे बात कर सकें और फिर कश्मीरी नेतृत्व पर बातचीत के लिए दबाव डाल सकें.

Share it
Top