वैज्ञानिक विचारधारा, कराती रही धार्मिक भूल - अतुल अंजान

वैज्ञानिक विचारधारा, कराती रही धार्मिक भूल - अतुल अंजान

CPI एकमात्र पार्टी है जो वैज्ञानिक विचारधारा रखती है, बाकी सभी पार्टिया हमेशा धर्म का दामन थाम कर चलती है. लेकिन CPI हमेशा धार्मिक भूल करती रही है - अतुल अंजान

अतुल अंजान जी से बात करते हैं हुए उन्होने माना की कई ऐसे मौके इतिहास ने CPI को दिए जिससे वो शायद देश के विकास में ज्यादा सहयोग कर सकते थे, देश को बेहतर प्रशाशन और व्यवस्था बनाने में योगदान देते लेकिन उनकी पार्टी की वैज्ञानिक विचारधारा ने उनको ये

धार्मिक भूल करने पर मजबूर किया.

कई ऐसे किस्सा को जिक्र करते हुए अतुल जी ने बताया की कैसे CPI चाहती तो देश को Basu जी के रूप में एक शश्क्त प्रधानमंत्री दे सकती थी लेकिन उसकी विचारधारा ने ऐसा नहीं करने दिया. वो जिक्र करते हैं कैसे UPA सरकार में CPI ने बाहर से समर्थन दिया और सरकार का हिस्सा नहीं बने. इतिहासकार इससे CPI की बहुत बढ़ी धार्मिक भूल मानते रहेंगे हालाँकि ये हमारे सिद्धांतो के अनुरूप ही था.


अतुल अंजान जी ने ये भी बताया की कैसे देश को दो सबसे बड़ी राजनैतिक हत्याएं इतिहास के लिए कलंक बनी रहेगी.

१) पहली हत्या हुयी शहीदे आजम भगत सिंह की जो अंग्रेजो ने कांग्रेस के इशारे पर की

२) और दूसरी हत्या महात्मा गाँधी जी की थी जो RSS के इशारे पर हुयी.

ये दोनों हत्याएं हमेशा इस समाज ये से ये सवाल पूछती रहेंगी की क्या सत्ता का लालच शहादत से ऊपर है.

अतुल अंजान जी किसानो के अधिकार के हनन की खिलाफ जंग को प्रज्वलित करने जा रहे हैं और १ Nov से ५ Nov तक सक्रिय तरीक से प्रदर्शन करेंगे.


-अश्वनी मिश्रा (http://hocalwire.com)


Share it
Share it
Share it
Top