Top
Janta Ki Awaz

इन्कम टैक्स के नये बने पोर्टल में सुधार हेतु कुछ सुझाव :- ( प्रेम शंकर मिश्र)

इन्कम टैक्स के नये बने पोर्टल में सुधार हेतु कुछ सुझाव :-  ( प्रेम शंकर मिश्र)
X

इन्कम टैक्स के बने नए पोर्टल को 2 महीने से ज्यादा समय हो रहा! अभी भी उसमें बहुत सी खामियां है जिस वजह से रिटर्न भरने में समस्यायें आ रही!

अब गंभीरता से कुछ सुझाव रखते हुए ये आशा करता हूँ कि ये सुझाव पोर्टल के करता -धर्ताओं तक पहुंचे !

Innfosys तक ये बात पहुंचे की आखिर इसमें क्या और कितनी खामियां है income tax के इस नये पोर्टल में और इसको जल्द से जल्द ठीक नही किया गया तो आयकर रिटर्न फ़ाइल करना विशेषकर ITR3 फ़ाइल करना बहुत बहुत ही मुश्किल साबित होगा..

समस्यायें जिसका निदान करना तत्काल आवश्यक है:-

नए पैन रजिस्ट्रेशन के समय आ रही दिक्कतें कितना भी strong पासवर्ड डालो ये पोर्टल उसको कमजोर ही बताता है ।

कुछ pan और आधार के data में अंतर के कारण ITR जा ही नही रहे जो कि उचित नही है , ITR जाने में इस तरह की रुकावट नही होनी चाहिए ..मैन्युअल verify ऑप्शन के तहत इस तरह के ITR जाने देना चाहिए ।

एडवांस पोर्टल से यह अपेक्षा की जाती है कि वो कम से कम पिछले ITR के डेटा को prefill ठीक से करे पिछले वर्ष के पता और फ़ोन नंबर को ठीक से फारवर्ड करे परंतु ये देखा जा रहा है कि हर मोबाइल नंबर के पूर्व अफगानिस्तान के country code 93 लगकर आ रहा है ..

कम से कम डिफ़ॉल्ट कोड 91 भारत का तो हो.. 90 प्रतिशत से ज्यादा ITR तो भारत से ही दाखिल होंगे!

भारत मे जितने भी जिले है वो सब पोर्टल में अपडेट नही है ..

पिनकोड डालने के पश्चात जिला का नाम सही आने चाहिए क्योंकि पोर्टल तो इसी साल ही बना है फिर District name आज की स्थिति में अपडेट क्यों नही ..मजबूरन कुछ district नाम गलत डालना पड़ता है जो कि अनुचित है ।

( उदाहरण छत्तीसगढ़ का कोंडागांव और सुकमा जिला पोर्टल में नही है तो जिले का नाम बस्तर या दंतेवाड़ा डालना पड़ता है)

बैंक एकाउंट नंबर को जब तक पोर्टल validate नही करेगा ITR नही जाएगा ..मंशा तो अच्छी है पर इसमें लास्ट मोमेंट पर ITR दाखिल न हो पाने का खतरा है क्योंकि बैंक एकाउंट का वेलिडेशन करदाता के पास उपलब्ध मोबाइल नंबर पर निर्भर करता है कि वही नंबर आधार और IT पोर्टल एवं बैंक में लिंक है या नही..

ITR को जाने देना चाहिए हाँ रिफंड प्रोसेस को रोका जा सकता है जब तक validate न हो।

ITR filed होने के बाद ack का न निकल पाना या अलग डेटा का ack या 0 income का ack भी बड़ी समस्या है अगर किसी को तुरंत ack चाहिए उसके लिए बहुत मुश्किल होगी!

TDS अमाउंट ITR में ऑटो filed होना चाहिए था पर ये कभी ऑटो filed करता है तो कभी नही ...

जब सब कुछ मैनुअल एंट्री ही करना पड़ रहा तो इसको एडवांस पोर्टल कैसे कहे।

कभी2 44AD में 6% और 8% दोनों कॉलम में एंट्री करने को पोर्टल कह रहा है obviously जब trasaction बैंकिंग चैनल से हुआ है तो 6% वाले कॉलम में एंट्री किया जाएगा अन्य माध्यम का 8% में ..

ये तो करदाता पर निर्भर है वो कैसे ट्रांसेक्शन किया है ..उसके अनुसार एंट्री होगा पोर्टल अपने से ऐसी सलाह या error कैसे दे सकता है ।

इसके अलावा कुछ अजीब बर्ताव पोर्टल करता है कभी2 सैलरी में डिडक्शन 50k के जगह 100000 या अन्य ऐसे डिडक्शन जो करदाता को नही मिलने चाहिए वो भी दे देता है

everify करते वक़्त otp का न आना या आने के बाद भी वेरीफाई न हो पाना एक बड़ी समस्या बन गई है समय बहुत नष्ट हो रहा है इसमें ।

और भी कई समस्याओं के बीच ITR filing बहुत मुश्किल हो गया है और ये तो कुछ भी नही असली समस्या आना अभी बाकी है जब ITR3 audit के return भरे जाएंगे उसमे तो सही ढंग से ITR फ़ाइल करना लगभग असंभव हो जाएगा ...

सरकार गंभीरता से पोर्टल की इन समस्याओं को ले और ठीक करें क्योंकि ITR file में असुविधा का सीधा मतलब ये है कि ITR कम फ़ाइल होंगे और सरकार को राजस्व की प्राप्ति में कमी आएगी !

कुल मिलाकर जैसा पोर्टल पिछले साल तक था वैसा ही smooth पोर्टल infosys का भी हो ..तो सारी समस्याएं समाप्त हो जाएंगी ।

Next Story
Share it