Top
Janta Ki Awaz

आज है ज्येष्ठ अमावस्या, शनि जयंती

आज है ज्येष्ठ अमावस्या, शनि जयंती
X

शनि जयंती हर वर्ष ज्येष्ठ अमावस्या तिथि पर मनाई जाती है. इस बार शनि जयंती 10 जून, गुरुवार को पड़ रही है. यह दिन शनिदेव की कृपा प्राप्त करने और कुंडली में शनिदोषों से मुक्ति पाने के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है. शनि जयंती पर कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. दरअसल धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक इस दिन कछ कामों को करने की मनाही होती है. आज हम आपको बता रहे हैं कि शनि जयंती के दिन कौन-कौन से काम नहीं करने चाहिए.

शनिदेव की कृपा उन लोगों पर नहीं होती है जो कि गरीब, कमजोर, असहाय लोगों को तंग करते हैं. इसलिए इन लोगों की सदा सेवा करें. न केवल शनि जंयति बल्कि हर दिन इन लोगों की जितनी हो सके मदद करें. इसी के साथ छल - कपट से भी दूर रहना चाहिए.

शनि जयंती के दिन कभी भी कांच या लोहे की चीजें खरीदकर घर नहीं लाना चाहिए. इन चीजों को घर में लाने से मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. लोहे की वस्तु पर शनि की और कांच पर राहुल का प्रभाव रहता है.

शनिदेव की पूजा करते वक्त कभी उनकी आंखों में नहीं देखना चाहिए. इससे उनकी वक्री दृष्टि आप पर पड़ सकती है. शनिदेव की पूजा करते वक्त हमेशा उनके पैरों की तरफ देखना चाहिए इससे उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है.

शनि जयंती के दिन मांस, मदिरा का सेवन न करना चाहिए.

सरसों का तेल, लकड़ी, उदड़ की दाल शनि जयंती को नहीं खरीदनी चाहिए. शनि जयंती के दिन बाल या नाखून काटने या कटवाने नहीं चाहिए. जूते, चप्पल खरीदना भी वर्जित माना गया है. इस दिन तुलसी, पीपल या बेलपत्र को तोड़ना भी वर्जित है.

Next Story
Share it