Top
Janta Ki Awaz

मुलायम सिंह यादव की तबीयत को लेकर आया बड़ा अपडेट, CCU से ICU वार्ड में दोबारा शिफ्ट किए गए

मुलायम सिंह यादव की तबीयत को लेकर आया बड़ा अपडेट, CCU से ICU वार्ड में दोबारा शिफ्ट किए गए
X

गुरुग्राम: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत को लेकर बड़ा अपडेट सामने आया है. गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज करवा रहे मुलायम सिंह यादव की हालत अब भी नाजुक है. मेदांता अस्पताल ने सपा संरक्षक मुलामय सिंह यादव की तबीयत को क्रिटिकल बताते हुए कहा कि उन्हें सीसीयू यानी 'क्रिटिकल केयर यूनिट' से आईसीयू में दोबारा शिफ्ट किया गया है.

मेदांता अस्पताल द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, मुलायम सिंह यादव की स्थिति अब भी नाजुक है और उन्हें अस्पताल के आईसीयू यानी इंटेसिंव केयर यूनिट में शिफ्ट किया गया है. यहां एक्सपर्स्ट डॉक्टरों द्वारा उनका इलाज किया जा रहा है. बता दें कि 82 साल के मुलायम सिंह यादव का 22 अगस्त से अस्पताल में इलाज चल रहा है और उन्हें जुलाई में भी अस्पताल में भर्ती कराया गया था,

मुलायम सिंह यादव को देखने शिवपाल यादव भी अस्पताल पहुंचे हैं. इससे पहले मुलामय सिंह यादव के पुत्र अखिलेश यादव, पुत्रवधू डिंपल यादव और भाई शिवपाल सिंह यादव रविवार को अस्पताल पहुंचे थे. सूत्रों ने बताया कि पार्टी के कुछ कार्यकर्ता भी उनका हालचाल जानने के लिए अस्पताल परिसर पहुंचे और उन्हें अस्पताल नहीं आने की सलाह दी गई है.

अस्पताल के बाहर समर्थकों की भीड़

फिलहाल, समाजवादी पार्टी के बड़े नेताओं की अपील के बावजूद मुलायम सिंह यादव का हाल जानने के लिए गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल पर तमाम समर्थक पहुंच रहे हैं. सपा के वरिष्ठ नेता और सांसद रामगोपाल यादव भी मेदांता पहुंचे हैं. आम समर्थकों के साथ ही सपा के तमाम दिग्गज नेता, विधायक और सांसद भी अस्पताल पहुंच रहे हैं. जबकि सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ ही धर्मेंद्र यादव ने पहले भी अपील की थी कि कम से कम लोग अस्पताल आएं.



क्या हुआ है मुलायम सिंह यादव को

गौरतलब है कि सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव पिछले 3 साल से गंभीर रूप से बीमार चल रहे हैं. कभी उनकी सेहत में सुधार होता है, लेकिन बाद में वह फिर बिगड़ जाती है. मेदांता अस्पताल के मुताबिक, मुलायम सिंह यादव के फेफड़े और किडनी में गंभीर समस्या है. इसके साथ ही मुलायम सिंह का ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में नहीं है. सांस लेने में तकलीफ के करण मुलायम सिंह को वेंटीलेटर का सपोर्ट दिया गया. किडनी में समस्या के चलते मुलायम सिंह की डायलिसिस भी की गई थी. इससे उनकी सेहत में थोड़ा सुधार तो हुआ लेकिन फिर उनकी हालत बिगड़ गई.

Next Story
Share it